Raj Express
www.rajexpress.co
Ravi Shastri
Ravi Shastri |Social Media
खेल

रवि शास्त्री ने कोहली और भारतीय टीम के अहम मुद्दों पर दिया बयान

भारतीय टीम को इस साल विदेशी धरती पर जीत कर आने का लक्ष्य होगा। इसे लेकर आज कोच रवि शास्त्री ने कई मुद्दों पर बात की है।

Ankit Dubey

राज एक्सप्रेस। साल 2020 के आते ही भारतीय टीम के सामने नई चुनौतियां खड़ी हैं। इस साल भारत को ऑस्ट्रेलिया में T20 वर्ल्ड कप खेलना है। भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) और कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने साल 2020 के लिए तैयारी शुरू कर दी हैं। टेस्ट क्रिकेट में नंबर वन टीम इंडिया अब अपने आने वाले साल के लिए तैयारी में जुटी है। भारतीय टीम को इस साल विदेशी धरती पर जीतने का लक्ष्य होगा। इसे लेकर आज रवि शास्त्री ने कई मुद्दों पर बात की है। रवि शास्त्री ने एक समाचार पत्र से बातचीत के दौरान भारतीय टीम से जुड़े अहम मुद्दों और विराट कोहली की कप्तानी को लेकर अपना पक्ष रखा है।

कप्तान विराट कोहली का जुनून सबसे अलग

विराट कोहली की कप्तानी पर सवाल किए जाने पर रवि शास्त्री ने कहा कि, मैंने अपने पूरे कैरियर में किसी भी कप्तान को पूरी तरह सही नहीं देखा, आप अलग-अलग तरीके के कप्तान देख सकते हैं, जिनके मजबूत और कमजोर पक्ष हो सकते हैं, वह किसी पक्ष में काफी ताकतवर होंगे लेकिन कहीं-कहीं उनमें भी कमियां होती हैं। अंत में आपको निर्णय ही बताता है कि कौन कितना बेहतर है। विराट कोहली की बात की जाए तो वह ऐसे इंसान हैं कि हर दिन कुछ नया सुधार करते हैं। मैदान पर उनका जुनून और एनर्जी सबसे अलग है। मैंने किसी और कप्तान को इतनी एनर्जी के साथ मैदान पर नहीं देखा और रणनीति के हिसाब से कुछ चीजें ऐसी हैं, जो वह समय के साथ और अनुभव के तौर पर बेहतर करते रहेंगे।

सोशल मीडिया पर आलोचकों को लेकर यह है राय

रवि शास्त्री ने सोशल मीडिया पर ट्रोल किए जाने पर कहा है कि यह सब भारतीय क्रिकेट का हिस्सा है, यह काफी लंबे समय से चला आ रहा है, मैं जब 2014 में कोच बना था, तब से चला आ रहा है, यह देश का क्रिकेट के प्रति प्यार भी हैं। यह लोग ही वह हैं जो चाहते हैं कि, टीम हमेशा अच्छा खेल खेले।

टेस्ट क्रिकेट में गेंदबाजी सबसे अहम

रवि शास्त्री ने टेस्ट क्रिकेट में गेंदबाजी को सबसे ज्यादा अहम बताया है और कहा है कि एक बार फिर जसप्रीत बुमराह के टीम में वापस आ जाने से हम विदेशी धरती पर मैच जीत सकते हैं। तेज गेंदबाजी आक्रमण अगर शानदार हो तो विदेशी धरती पर फतेह पाना आसान हो जाता है।

दक्षिण अफ्रीका में हुए टेस्ट मैच के बाद लगा कि गेंदबाजी में है दम

रवि शास्त्री ने बताया कि, दक्षिण अफ्रीका के केपटाउन में खेले गए टेस्ट मुकाबले में भारत ने जो गेंदबाजी की थी, उसकी दूसरी पारी में मुझे यह एहसास हुआ कि गेंदबाज जिस तरीके से गेंदबाजी कर रहे हैं वह शानदार है और वह अगर इस तरह से अपना काम करेंगे तो यह आक्रमण सबसे ताकतवर होगा। जिस तरह बल्लेबाजी में बेहतरीन किया जाता है, उस तरह गेंदबाजी में भी वही बात लागू होनी चाहिए।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।