आलोचनाओं का सामना कर रहे विराट के बचाव में उतरे आरसीबी के कोच कैटिच

लगातार आठवीं बार आरसीबी के टूर्नामेंट से बाहर होने के साथ ही विराट का अपनी कप्तानी में आईपीएल जीतने का सपना टूट गया और उन्हें कड़ी आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है।
आलोचनाओं का सामना कर रहे विराट के बचाव में उतरे आरसीबी के कोच कैटिच
विराट के बचाव में उतरे आरसीबी के कोच कैटिचSocial Media

राज एक्सप्रेस। रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (आरसीबी) के मुख्य कोच साइमन कैटिच ने लगातार आठ वर्षों तक अपनी कप्तानी में आईपीएल को कोई खिताब नहीं जिताने पर आलोचनाओं का सामना कर रहे कप्तान विराट कोहली का बचाव करते हुये कहा है कि आरसीबी को अभी उनकी जरूरत है।

आरसीबी शुक्रवार को सनराइजर्स हैदराबाद से आईपीएल के एलिमिनेटर में छह विकेट से हारकर टूर्नामेंट से बाहर हो गया है। इस हार के साथ विराट का लगातार आठवें साल अपनी कप्तानी में आईपीएल जीतने का सपना टूट गया और उन्हें कड़ी आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है।

भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने भी आरसीबी के टूर्नामेंट से बाहर होने के बाद कहा है कि आरसीबी को अब कप्तानी के लिए विराट की जगह नया विकल्प देखना चाहिए। गंभीर ने कहा कि आठ वर्ष का समय बहुत लंबा होता है और अगर एक टीम इस दौरान एक भी खिताब जीतने में विफल रहती है तो इसके लिए कप्तान को जवाबदेह ठहराया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि वह विराट के खिलाफ नहीं हैं लेकिन अब समय आ गया है कि 32 वर्षीय इस खिलाड़ी को आईपीएल में कप्तानी की जिम्मेदारी से अलग हो जाना चाहिए।

कैटिच ने विराट के नेतृत्व का बचाव करते हुये शनिवार को मीडिया से बातचीत में विशेष रूप से उनकी दो महत्वपूर्ण खूबियों का उल्लेख किया। कैटिच के अनुसार पहली खूबी यह है कि विराट खिलाड़ियों का बहुत अच्छा मार्गदर्शन करते हैं और उनकी दूसरी खूबी यह है कि वह युवा खिलाड़ियों को अंत तक संघर्ष करने के लिए प्रेरित करते हैं। आरसीबी के कोच का मानना है कि विराट ने इस सीजन से आईपीएल में पदार्पण करने वाले सलामी बल्लेबाज देवदत्त पडिकल का बेहतरीन मार्गदर्शन किया है। आरसीबी के बल्लेबाज देवदत्त ने इस सीजन में 473 रन बनाये हैं जिनमें पांच अर्धशतक शामिल हैं।

कैटिच ने कहा, ''हम बहुत भाग्यशाली हैं कि हमें विराट के साथ ये 11 सप्ताह काम करने को मिले। विराट बहुत पेशेवर हैं और यहां सभी खिलाड़ी उनका बहुत सम्मान करते हैं।"

डिस्क्लेमर : यह आर्टिकल न्यूज एजेंसी फीड के आधार पर प्रकाशित किया गया है। इसमें राज एक्सप्रेस द्वारा कोई संशोधन नहीं किया गया हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co