गेंदबाजी विभाग में आरसीबी ने हमेशा किया संघर्ष : केविन पीटरसन
गेंदबाजी विभाग में आरसीबी ने हमेशा किया संघर्ष : केविन पीटरसनSocial Media

गेंदबाजी विभाग में आरसीबी ने हमेशा किया संघर्ष : केविन पीटरसन

इंग्लैंड के पूर्व बल्लेबाज केविन पीटरसन ने कहा है कि उन्हें लगता है कि गेंदबाजी विभाग रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (आरसीबी) के लिए थोड़ी समस्या पैदा करता है।

राज एक्सप्रेस। इंग्लैंड के पूर्व बल्लेबाज केविन पीटरसन ने कहा है कि उन्हें लगता है कि गेंदबाजी विभाग रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (आरसीबी) के लिए थोड़ी समस्या पैदा करता है। विराट कोहली लगातार अपने गेंदबाजों में संयोजनों की तलाश कर रहे हैं, यह सुनिश्चित करने के लिए कि वे प्रभावी तरीके से पारी की शुरुआत कर पाएं, जैसे वे बल्ले से करते हैं।

आरसीबी के पास कोहली और डिविलियर्स के साथ-साथ अब ग्लेन मैक्सवेल और देवदत्त पडिकल भी हैं, इसलिए उसका बल्लेबाजी विभाग बिल्कुल ठीक है, लेकिन गेंदबाजी विभाग एक ऐसा विभाग है जिसके साथ आरसीबी ने हमेशा संघर्ष किया है। टीम में डेल स्टेन और मिचल स्टार्क जैसे गेंदबाज आए थे, लेकिन संयोजन नहीं बना।

पीटरसन ने शनिवार को स्टार स्पोर्ट्स के कार्यक्रम ' क्रिकेट लाइव ' के दौरान पिछले वर्ष की तुलना में इस सीजन आरसीबी की टीम का विश्लेषण करते हुए कहा, '' मैं इस बिंदु पर फिर से बात करना चाहता हूं, क्योंकि मुझे लगता है कि गेंदबाजी विभाग आरसीबी के लिए शुरू से एक पहेली रहा है। आरसीबी को कई गेंदबाज मिले हैं, लेकिन ऐसा लगता है कि वे काइल जैमिसन और मोहम्मद सिराज के साथ सहज हैं।

युजवेंद्र चहल ऐसे खिलाड़ी नहीं हैं जो तीसरे और चौथे ओवर में आए और वापसी करते हुए सारे विकेट हासिल कर लें, हालांकि वह एक अच्छे खिलाड़ी, लेकिन हर सीजन एक ही गेंद से अपेक्षाएं रखना उसे दबाव में डाल देता है। मुझे लगता है कि अब विराट गेंदबाजी विभाग में सहज महसूस करते हैं। उनके पास केन रिचर्डसन और डैनियल सैम्स जैसे खिलाड़ी उपलब्ध हैं, इसलिए उन्हें पता है कि उनके पास बैक-अप है।"

डिस्क्लेमर : यह आर्टिकल न्यूज एजेंसी फीड के आधार पर प्रकाशित किया गया है। इसमें राज एक्सप्रेस द्वारा कोई संशोधन नहीं किया गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co