माही से मैच खत्म करने के बारे में सिखा : शिवम दुबे
माही से मैच खत्म करने के बारे में सिखा : शिवम दुबेSocial Media

माही से मैच खत्म करने के बारे में सिखा : शिवम दुबे

पहले टी-20 मुकाबले में भारत की जीत के हीरो रहे ऑलराउंडर शिवम दुबे ने कहा कि मैंने महेन्द्र सिंह धोनी (माही भाई) से मैच को खत्म करने के बारे में सीखा है।

हाइलाइट्स :

  • टी-20 सीरीज 2024।

  • भारत और अफगानिस्तान के बीच मुकाबला।

  • भारत ने अफगानिस्तान को छह विकेट से हराया।

  • शिवम दुबे ने खेली शानदार अर्धशतकीय पारी।

  • शिवम दुबे ने कहा महेन्द्र सिंह धोनी (माही भाई) से मैच को खत्म करने के बारे में सीखा।

मोहाली। पहले टी-20 मुकाबले में भारत की जीत के हीरो रहे ऑलराउंडर शिवम दुबे ने कहा कि मैंने महेन्द्र सिंह धोनी (माही भाई) से मैच को खत्म करने के बारे में सीखा है। प्लेयर ऑफ द मैच दुबे ने कहा, “मैं लंबे समय से मौके का इंतजार कर रहा था। मैं स्वयं को तैयार रख रहा था, जिससे जब भी मौका मिले तो मैं अच्‍छा करूं। जब मैं बल्‍लेबाजी के लिए आया तो वही किया जो मैंने माही भाई (एमएस धोनी) से मैच को खत्‍म करने के बारे में सीखा था।”

बल्‍लेबाजी में बदलाव के बारे में दुबे ने कहा, “मैं माही भाई से लगातार बात करता हूं। मैंने उनसे बहुत कुछ सीखा है। वह मुझे बताते हैं कि कैसे अलग-अलग परिस्थिति का सामना करना है। उन्‍होंने मुझे दो से तीन सुझाव दिए हैं और मेरी बल्‍लेबाजी को रेट किया है। तो मुझे लगता है कि अगर वे मेरी बल्‍लेबाजी को रेट कर रहे हैं तो मैं लगातार अच्‍छा करूंगा। मेरा आत्‍मविश्‍वास इस वजह से बहुत बढ़ा है। मैं अपनी गेंदबाजी पर भी लंबे समय से काम कर रहा हूं। यह बदलाव एकदम से नहीं आया हैं। मैं मौके का इंतजार कर रहा था और मुझे मौका मिला तो मैंने अच्‍छा किया।”

उन्होंने कहा, “रोहित भाई ने मुझे मैच के हिसाब से बल्‍लेबाजी करने को कहा और मुझ पर विश्‍वास जताया कि मैं मैच को किसी भी स्थिति में जिता सकता हूं। मोहाली में बहुत ठंड थी तो जब मैं बल्‍लेबाजी करने गया तो बल्‍ला भी नहीं पकड़ा जा रहा था लेकिन दो तीन गेंद खेलने के बाद मैं पूरी तरह से रम गया।”

उन्होंने कहा, “मैं लबे समय से गेंदबाजी कर रहा था और महसूस कर रहा था कि मैं अच्‍छा कर रहा था। ऑफ सीजन में भी मैंने अपनी फिटनेस पर काफी काम किया और इससे मुझे मदद मिली। इसके बाद मैंने घरेलू क्रिकेट में भी अपनी गेंदबाजी में काफी सुधार किया। मैंने सही जगह पर गेंदबाजी की और मुझे अच्‍छी गति भी मिली।”

उन्होंने कहा कि रोहित भाई ने मुझसे कहा था कि मैच की स्थिति को देखते हुए वह मुझे गेंद देंगे। मौका मिलने पर मुझे अच्‍छा लगा। आगामी टी-20 विश्वकप के बारे में उन्‍होंने कहा, “विश्‍वकप खेलना और जीत में योगदान देना हर क्रिकेटर का सपना होता है। तो यह हमेशा मेरे दिमाग में चलता रहता है, लेकिन अभी इसमें बहुत समय बचा है तो मैं एक-एक कदम आगे बढ़ूंगा।”

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co