S. Sreesanth
S. Sreesanth|Social Media
खेल

श्रीसंत का बैन खत्म, बोले मुझे बुलाओ, मैं कहीं भी क्रिकेट खेलने को तैयार

श्रीसंत ने स्पॉट फिक्सिंग मामले के बैन को हटने के बाद बयान दिया है। उन्होंने कहा कि मुझे बुलाओ, मैं आऊंगा और कहीं भी क्रिकेट खेलूंगा।

Ankit Dubey

राज एक्सप्रेस। तेज गेंदबाज श्रीसंत ने स्पॉट फिक्सिंग मामले के बैन को हटने के बाद बयान दिया है। श्रीसंत साल 2007 और 2011 विश्व कप भारतीय टीम का हिस्सा रहे हैं। उन्होंने एक समय भारतीय टीम में अपनी गेंदबाजी से सबका ध्यान आकर्षित किया था। बैन झेल रहे श्रीसंत अब मुक्त हो चुके हैं, उन्होंने कहा कि मुझे बुलाओ, मैं आऊंगा और कहीं भी क्रिकेट खेलूंगा। श्रीसंत के मुताबिक फिलहाल उनमें 5 से 7 साल का क्रिकेट बाकी है और वह जल्द ही वापसी करना चाहते हैं।

श्रीसंत ने दिया यह बयान

श्रीसंत ने कहा कि मुझे बुलाओ, मैं आऊंगा और कहीं भी क्रिकेट खेलूंगा, इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मैं ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और श्रीलंका के एजेंटों से बात कर रहा हूं, मैं इन देशों में क्लब स्तरीय क्रिकेट खेलना चाहता हूं। मेरा लक्ष्य 2023 विश्व कप में अपने देश का प्रतिनिधित्व करना है। मेरी दूसरी इच्छा यह भी है कि मैं लॉर्ड्स में एमसीसी और वर्ल्ड इलेवन के बीच होने वाले मुकाबले में खेल सकूं।

37 वर्षीय एस श्रीसंत पर मैच फिक्सिंग के आरोप लगे थे, साल 2013 में दिल्ली पुलिस ने मैच फिक्सिंग के आरोप में श्रीसंत और उनके दो साथी खिलाड़ी जीत चांडिला और अंकित छवन को गिरफ्तार किया था। जिसके बाद बीसीसीआई (BCCI) द्वारा उन पर आजीवन प्रतिबंध लगा दिया गया था। फिर उन्होंने कोर्ट में लंबी लड़ाई लड़ी। साल 2015 में दिल्ली की एक विशेष अदालत ने श्रीसंत को सभी आरोपों से बरी कर दिया था।

साल 2018 में हटा था आजीवन प्रतिबंध

साल 2018 में केरल उच्च न्यायालय द्वारा श्रीसंत (S. Sreesanth) पर लगे आजीवन प्रतिबंध को रद्द कर दिया गया, लेकिन साल 2019 में सुप्रीम कोर्ट ने उनके अपराध को बरकरार रखा और बीसीसीआई से सजा की मात्रा कम करने के लिए कहा गया। जिसके बाद बीसीसीआई ने उनके आजीवन प्रतिबंध को 7 साल में तब्दील कर दिया था। जोकि अब समाप्त हो गया है।

आपको बता दें भारतीय क्रिकेट टीम के लिए एस श्रीसंत (S. Sreesanth) 27 टेस्ट मुकाबले खेल चुके हैं, जिनमें उन्होंने 87 विकेट लिए हैं। जबकि वनडे इंटरनेशनल मुकाबलों में उन्होंने 75 विकेट हासिल किए हैं। वह साल 2011 विश्व कप टीम का हिस्सा भी रहे हैं।

विवादों से उनका नाता पुराना है, एक बार टीम के साथी खिलाड़ी हरभजन सिंह ने उनको आईपीएल के दौरान थप्पड़ भी मार दिया था। श्रीसंत का नाता राजनीति से भी रहा है, उन्होंने भाजपा से चुनाव में खड़े होकर कांग्रेस के एस शिवकुमार से हार का सामना किया था।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co