श्रीलंका दौरे को लेकर बीसीसीआई असमंजस में, जानें क्या होगा आगे
श्रीलंका दौरे को लेकर बीसीसीआई असमंजस में, जानें क्या होगा आगे|Social Media
खेल

श्रीलंका दौरे को लेकर बीसीसीआई असमंजस में, जानें क्या होगा आगे

श्रीलंका बोर्ड का मानना है कि जुलाई में होने वाले भारत के दौरे को बरकरार रखना चाहिए। बीसीसीआई (BCCI) ने दिया यह जवाब...

Ankit Dubey

राज एक्सप्रेस। देश और दुनिया में कोरोना वायरस वैश्विक महामारी ने कहर बरपा रखा है। जहां सभी क्रिकेट बोर्ड फिलहाल खिलाड़ियों की सुरक्षा को लेकर प्राथमिकता दे रहे हैं। वहीं श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड चाहता है कि बीसीसीआई (BCCI) भारत का श्रीलंका दौरा रद्द ना करें। श्रीलंका बोर्ड का मानना है कि जुलाई में होने वाले भारत के दौरे को बरकरार रखना चाहिए। भारत को जुलाई माह में श्रीलंका दौरे पर तीन टी-20 और तीन वनडे खेलने की पेशकश की गई थी। जिस पर बीसीसीआई ने हालात को देखते हुए असमंजस की स्थिति बताई है।

बीसीसीआई अधिकारी ने दिया यह बयान

जुलाई में होने वाले श्रीलंका के दौरे को लेकर बीसीसीआई असमंजस में है। बीसीसीआई का कहना है कि इसमें अभी हालांकि कुछ समय है, लेकिन भारतीय टीम जुलाई में श्रीलंका का दौरा करें, यह असंभव नजर नहीं आ रहा है। श्रीलंका के अखबार द आइसलैंड की रिपोर्ट के मुताबिक श्रीलंका क्रिकेट ने बीसीसीआई से जुलाई के मध्य में होने वाले दौरे को रद्द ना करने की अपील की है।

इंतजार कर बनानी होगी योजना

बीसीसीआई अधिकारी ने आईएएनएस से बातचीत में कहा कि इस समय दौरा लगभग असंभव लग रहा है। पहले तो मौजूदा स्थिति पर एक समय पर एक कदम उठाने वाली स्थिति है, आपको पता होगा कि इस वक्त हमारे कुछ खिलाड़ी मुंबई और बेंगलुरु में हैं, यह दोनों जोन कोरोना से काफी प्रभावित हैं। इस वक्त सवाल यह पैदा होता है कि क्या भारतीय टीम विराट कोहली और रोहित शर्मा के बिना दौरा कर पाएगी, अगर इस सवाल में हम ना भी पड़े तो क्या अंतरराष्ट्रीय यातायात सेवा संभव होगी? उन्होंने आगे कहा कि इसलिए हमें इंतजार करना होगा और आगे की नीति पर विचार करना होगा।

बीसीसीआई अपनी पूरी कोशिश करेगा

बीसीसीआई अधिकारी ने आगे की जानकारी में साफ किया कि सरकार कोरोना वायरस से लड़ने की पूरी कोशिश कर रही है, लेकिन हमें जुलाई के मध्य में बाहर सफर करने की स्थिति संभव नहीं लगती। बीसीसीआई निश्चित तौर पर अपनी पूरी कोशिश करेगा, लेकिन मौजूदा स्थिति को ध्यान में रखते हुए सुरक्षा को प्राथमिकता देनी होगी।

घरेलू क्रिकेट कि शुरुआत होने पर ध्यान

उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि रेड जोन से खिलाड़ियों को ग्रीन जोन में लाने की मंजूरी भी नहीं है। अगर सरकार निकट भविष्य में इसे मंजूरी प्रदान करती है, तो आगे क्या संभावना बनती है इस पर विचार करना होगा। साथ ही उन्होंने कहा कि क्या हम घरेलू क्रिकेट शुरू कर सकते हैं? इस समय घरेलू क्रिकेट कि शुरुआत होने पर ध्यान देना होगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co