हैरानी की बात है कि विकेट अच्छा था : धोनी
हैरानी की बात है कि विकेट अच्छा था : धोनीSocial Media

हैरानी की बात है कि विकेट अच्छा था : धोनी

सीएसके के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने कहा कि उनकी टीम की बल्लेबाजी शानदार थी, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि गेंदबाजी अच्छी नहीं थी। हैरानी की बात है कि विकेट अच्छा था।

राज एक्सप्रेस। मौजूदा आईपीएल सत्र की सबसे फिसड्डी टीम सनराइजर्स हैदराबाद (एसआरएच) के खिलाफ यहां बुधवार को आईपीएल 14 के 23वें मुकाबले में शानदार जीत के बाद चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने कहा कि उनकी टीम की बल्लेबाजी शानदार थी, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि गेंदबाजी अच्छी नहीं थी। हैरानी की बात है कि विकेट अच्छा था।

धोनी ने मैच के बाद कहा, '' हम जब भी दिल्ली आते हैं तो हम कभी भी इस तरह के विकेट की उम्मीद नहीं करते हैं। बल्ले पर गेंद अच्छी तरह से आ रही थी और स्पिनरों के लिए भी कोई मदद नहीं थी। अच्छी बात यह थी कि ओस नहीं रही। कल रात हमने महसूस किया था कि अगर मैदान पर ओस नहीं है तो 170 का स्कोर औसत स्कोर से कम है। ओपनिंग साझेदारी शानदार थी। "

कप्तान ने पिछले सीजन की तुलना में इस साल टीम में आए बदलाव के बारे में कहा, '' जब भी आप टूर्नामेंट शुरू करते हैं तो आप प्लेइंग इलेवन को लेकर समस्या कर सकते हैं या नहीं भी कर सकते हैं। आप पहले-पहले समस्या को बेहतर तरीके से सुलझा सकते हैं। एक और कारण यह भी है कि हम पांच-छह महीने क्रिकेट से दूर थे, क्योंकि कोरोना के चलते किसी भी चीज की अनुमति नहीं थी। ऐसा भी नहीं था कि आप खुद की जिम्मेदारी पर जा सकते थे और अभ्यास कर सकते थे। इससे भी मुश्किल होती। क्वारंटीन बदलना, थोड़ा लंबा था और भी बहुत कारण थे। कुल मिलाकर इस साल अच्छी स्थिति में रहने के लिए खिलाडियों ने अधिक जिम्मेदारी ली है।"

धोनी ने कहा, '' कई बार चीजें आपके विपरीत होंगी, लेकिन लेकिन अंतत: यही मायने रखता है कि प्रत्येक खिलाड़ी किस तरह इससे उभरता है और टीम के लिए अपना अतिरिक्त 10 प्रतिशत देता है। पिछले 8-10 वर्षों में हमने कई खिलाडियों को नहीं बदला है, इसलिए वे हमारे द्रष्टिकोण को जानते हैं। साथ ही हम उन खिलाडियों की सराहना करते हैं जो टीम की तरफ से ज्यादा नहीं खेले हैं। केवल एक ही तरीका है कि जिससे आप उन्हें सकारात्मक रख सकते हैं वो है उनसे सकारात्मक बातचीत करते रहना। बस दिमाग को इस तरह से सेट रखने की कोशिश करें कि अगर आपको जहां भी मौका मिले तो आप खेलने के लिए तैयार होंगे। ड्रेसिंग रूम में शांत और सौहार्दपूर्ण माहौल रखना भी महत्वपूर्ण है। यह आसान बात नहीं है। जब आप शीर्ष स्तर पर हों तो आप खेलना चाहते हैं। उन खिलाडियों को अतिरिक्त श्रेय देना होगा जो अब तक नहीं खेले हैं।"

डिस्क्लेमर : यह आर्टिकल न्यूज एजेंसी फीड के आधार पर प्रकाशित किया गया है। इसमें राज एक्सप्रेस द्वारा कोई संशोधन नहीं किया गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co