T20 World Cup : सेमीफ़ाइनल की उम्मीदों को जिन्दा रखने पर होगी भारत की नजर
T20 World Cup : सेमीफ़ाइनल की उम्मीदों को जिन्दा रखने पर होगी भारत की नजरSocial Media

T20 World Cup : सेमीफ़ाइनल की उम्मीदों को जिन्दा रखने पर होगी भारत की नजर

स्कॉटलैंड अब क्वालीफ़ाई तो नहीं कर सकता, लेकिन वह भारत को टक्कर देते हुए सुर्खियां बटोरने और सभी की नजरों में आना चाहेगा।

दुबई। भारत का नियंत्रण किस्मत पर तो नहीं है, लेकिन अगले दो मुक़ाबलों में उन्हें बड़ी जीत की ओर जरूर जाना होगा, ताकि उनका नेट रन रेट और भी बेहतर हो सके। स्कॉटलैंड अब क्वालीफ़ाई तो नहीं कर सकता, लेकिन वह इस बड़ी और चहेती टीम को टक्कर देते हुए सुर्खियां बटोरने और सभी की नजरों में आना चाहेगा। बुधवार को भी स्कॉटलैंड ने न्यूजीलैंड के खिलाफ प्रभावशाली प्रदर्शन किया था और मैच को बेहद कऱीब ले गए थे, जहां उन्हें सिर्फ 16 रन से हार मिली थी। अगर कोई एक बड़ी साझेदारी हो गई होती, या डेथ ओवर्स में एक और अच्छ ओवर हो जाता, तो फिर ये टीम आज करोड़ों भारतीयों की चहेती बन जाती। लेकिन अगर अब भारत के खिलाफ भी वह वैसा ही प्रदर्शन करें तो फिर टीम इंडिया के लिए मुश्किल हो सकती है।

अफ़ग़ानिस्तान के खिलाफ भारतीय बल्लेबाजों ने एक साथ कमाल का प्रदर्शन किया और पूरी पारी में लगातार आक्रामक रुख बनाए रखा था, जिस चीज की दरकार उनसे पहले दो मैचों में थी और तब वह कर नहीं पाए थे। स्कॉटलैंड के खिलाफ भारत की नजर बल्लेबाजी के साथ-साथ गेंदबाजी में और पैनापन हासिल करने पर होगी।

हार्दिक पांड्या का भविष्य इस बात पर निर्भर है कि वह लगातार गेंदबाजी कर सकते हैं या नहीं, फिर चाहे वह निचले क्रम में बल्लेबाजी में कितनी भी गहराई क्यों न देते हों। अफ़ग़ानिस्तान के खिलाफ उन्होंने गेंदबाजी तो की लेकिन वह लय में नहीं दिखे और उनके दो ओवर महंगे रहे। लेकिन बल्ले से जिस तरह उन्होंने 13 गेंदों पर 35 रनों की नाबाद पारी खेली, उसके दम पर भारत ने टी20 विश्वकप 2021 का सबसे बड़ा स्कोर भी बना डाला। क्या गेंद से भी वह जल्द ही ऐसा करिश्मा कर पाएंगे।

दुबई में ये मुक़ाबला रात में खेला जाएगा, लिहाजा दूसरे हाफ़ में ओस एक बहुत बड़ा असर पैदा कर सकती है। ये कऱीब-कऱीब तय है कि जो भी कप्तान टॉस जीतेगा, पहले गेंदबाजी करने का फ़ैसला करेगा। लेकिन विराट कोहली के लिए टॉस का बॉस बनना टेढ़ी खीर से कम नहीं, कोहली भारत के लिए पिछले 14 मैचों में से 13 में टॉस हार चुके हैं। स्कॉटलैंड के कप्तान काइल कोएत्जर के मुताबिक़ उनके तेज गेंदबाज जॉश डेवी की चोट अभी भी पूरी तरह ठीक नहीं हुई है और उनके खेलने पर आखिरी फ़ैसला टॉस के पहले लिया जाएगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co