ब्रिस्बेन होटल में पहुंचते ही टीम इंडिया परेशानी में
ब्रिस्बेन होटल में पहुंचते ही टीम इंडिया परेशानी मेंसोशल मीडिया

ब्रिस्बेन होटल में पहुंचते ही टीम इंडिया परेशानी में

टीम इंडिया ब्रिस्बेन तो पहुंच गयी है लेकिन अपने होटल में परेशानी में फंस गयी है और वे अपने कमरों में कैद होकर रह गए हैं।

ब्रिस्बेन : टीम इंडिया ब्रिस्बेन तो पहुंच गयी है लेकिन अपने होटल में परेशानी में फंस गयी है। होटल में कोई रूम सर्विस नहीं है, हाउसकीपिंग नहीं है, खिलाड़ियों को पूल का इस्तेमाल करने की इजाजत नहीं है और वे अपने कमरों में कैद होकर रह गए हैं।

भारतीय खिलाड़ियों का मूवमेंट होटल और गाबा मैदान के बीच तक सीमित रहेगा। हालांकि वे टीम रूम में मिल सकते हैं। खिलाड़ियों को अपने बेड खुद तैयार करने होंगे, अपने टॉयलेट खुद साफ करने होंगे, रूम सर्विस नहीं होगी, केवल एप्स पर खाना आर्डर किया जा सकता है , खिलाड़ी स्विमिंग पूल का इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं।

भारतीय टीम को न केवल 15 जनवरी से शुरू होने वाले चौथे और आखिरी टेस्ट के लिए अपने चोटिल खिलाड़ियों की समस्या से जूझना पड़ेगा बल्कि होटल की हाउसकीपिंग की समस्या से भी जूझना होगा। दोनों टीमें मंगलवार दोपहर ब्रिस्बेन पहुंचीं।

भारत कई कारणों से ब्रिस्बेन का दौरा करने के लिए तैयार नहीं था और सबसे बड़ा कारण यह था कि मैदान के बाहर उन्हें अपने होटल के कमरों तक सीमित रहना होगा। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने बीसीसीआई को लम्बी बातचीत के बाद आश्वासन दिया था कि भारतीय टीम को सख्त क्वारंटीन का सामना नहीं करना पड़ेगा लेकिन अब स्थिति कुछ बदली दिखाई दे रही है।

ब्रिस्बेन आने के बाद भारतीय टीम को पता चला कि होटल में हाउसकीपिंग नहीं है। टीम सदस्यों का कहना है कि उन्हें पहले ऐसा नहीं बताया गया था। सिडनी में टीम को घूमने की आजादी नहीं थी लेकिन होटल में रूम सर्विस और हाउसकीपिंग की सुविधाएं थीं। कुछ खिलाड़ी अपने परिवार के साथ यात्रा कर रहे हैं और उनके लिए परेशानी ज्यादा है। खिलाड़ियों को अपनी रिकवरी के लिए पूल की जरूरत होती है लेकिन ब्रिस्बेन में टीम को यह सुविधा नहीं दी गयी है।

डिस्क्लेमर : यह आर्टिकल न्यूज एजेंसी फीड के आधार पर प्रकाशित किया गया है। इसमें राज एक्सप्रेस द्वारा कोई संशोधन नहीं किया गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co