फाइनल फ्रंटियर फतह करने उतरेगी टीम इंडिया
फाइनल फ्रंटियर फतह करने उतरेगी टीम इंडियाSocial Media

फाइनल फ्रंटियर फतह करने उतरेगी टीम इंडिया

ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड में जीत हासिल कर चुकी भारतीय टीम रविवार से यहां होने वाले पहले क्रिकेट टेस्ट मैच में दक्षिण अफ्रीका का किला भेदने के इरादे से उतरेगी।

सेंचुरियन। ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड में जीत हासिल कर चुकी भारतीय टीम रविवार से यहां होने वाले पहले क्रिकेट टेस्ट मैच में दक्षिण अफ्रीका का किला भेदने के इरादे से उतरेगी। भारतीय टीम दक्षिण अफ़्रीका का किला भेदने की कोशिश करेगी, जहां पर उन्होंने कभी भी टेस्ट सीरीज नहीं जीती है। हालांकि दक्षिण अफ़्रीका का हालिया घरेलू रिकॉर्ड भी बेहतर नहीं रहा है और उन्होंने अपने पिछले आठ घरेलू टेस्ट में से पांच गंवाए हैं। इस दौरान तीन घरेलू टेस्ट सीरीज में दो में उन्हें जीत मिली है। यह रिकॉर्ड टीम इंडिया को दक्षिण अफ़्रीका में अपनी पहली टेस्ट सीरीज जीतने के लिए प्रेरित करेगा।

पहला मैच सेंचुरियन में खेला जाएगा, जो मेजबान टीम का किला माना जाता है। इस मैदान पर 26 टेस्ट मैच हुए हैं, जिसमें से दक्षिण अफ़्रीका ने सिर्फ दो गंवाए हैं, जबकि 21 में उन्हें जीत मिली है। इन दोनों मैचों में से एक मैच वह है, जब खराब मौसम के कारण बहुत सारा समय बर्बाद हो जाने के बाद इंग्लैंड और साउथ अफ़्रीका ने एक-एक पारी का मैच खेला था। भारत ने यहां पर 2010 और 2018 में दो टेस्ट मैच खेले हैं और दोनों में उन्हें हार का सामना करना पड़ा है।

पिछले साल विदेशी दौरों पर भी भारत के सलामी बल्लेबाजों ने कुछ निरंतरता दिखाई लेकिन विराट कोहली, अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा का अनुभवी मध्य क्रम रनों की कमी से जूझता रहा। तीनों ने दो-दो बार साउथ अफ़्रीका का दौरा किया है और तीनों का रिकॉर्ड बहुत अच्छा रहा है। कोहली और रहाणे ने तो यहां पर 50 अधिक के औसत से रन किए हैं, जबकि पुजारा ने भी कुछ महत्वपूर्ण पारियां खेली हैं। हालांकि पिछले दो वर्षों में इन तीनों बल्लेबाजों का प्रदर्शन गिरा है और औसत 30 से भी कम का हो गया है। इस साल सिर्फ श्रेयस अय्यर ही एक ऐसे भारतीय बल्लेबाज रहे हैं, जिन्होंने नंबर तीन से नंबर पांच पर आते हुए शतक लगाया है। पुजारा के नाम पिछले 42 पारियों में शतक नहीं है, वहीं कप्तान कोहली ने नवंबर 2019 के बाद से कोई शतक नहीं लगाया है। वहीं रहाणे के नाम 16 टेस्ट में सिर्फ तीन 50+ के स्कोर हैं।

2016 तक 29 टेस्ट खेलने के बाद रहाणे का औसत पहली और एकमात्र बार 50 से अधिक 51.37 तक गया था। इसके बाद से उन्होंने 50 से अधिक टेस्ट खेले है और उनका औसत 32.73 तक आ गया है। पिछले साल मेलबॉर्न में मैच जिताऊ शतक के बाद उन्होंने 22 पारियों में सिर्फ दो अर्धशतक लगाए हैं। लगातार शीर्ष छह में 50 टेस्ट खेलते हुए इससे कम औसत सिर्फ रवि शास्त्री (32.38) का रहा है।

भारत के लिए सबसे बड़ी चिंता मध्य क्रम है जिसमें उसे रहाणे, हनुमा विहारी और अय्यर में से किसी एक को चुनना है। रहाणे का समर्थन हालांकि टीम में सभी कर रहे हैं लेकिन घरेलू सीरीज में न्यूजीलैंड के खिलाफ उनके बल्ले ने जैसी खामोशी दिखाई है उसे देखते हुए उन्हें चुनना मुश्किल लगता है लेकिन अंतिम समय तक क्या कुछ बदल जाए कुछ कहना मुश्किल लगता है।

दूसरी तरफ दक्षिण अफ़्रीका के कप्तान डीन एल्गर का मानना है कि घरेलू परिस्थितियों में खेलने के कारण भारत के खिलाफ तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में मेजबान टीम का पलड़ा भारी रहेगा। हालांकि वे इस बात से 'सचेत' हैं कि टेस्ट रैंकिंग में पहले पायदान पर पहुंचने के लिए भारत ने हालिया समय में विदेशी दौरों पर कितना अच्छा प्रदर्शन किया है।

सेंचूरियन में खेले जाने वाले बॉक्सिंग-डे टेस्ट से पहले एल्गर ने कहा, इस समय तो मुक़ाबला बराबरी का है। जाहिर है घर पर खेलने के कारण हमारा पलड़ा थोड़ा भारी रहेगा। हालांकि हम यह नहीं भूल सकते कि वह विश्व की नंबर एक टेस्ट टीम है और लंबे समय से शीर्ष स्थान पर बने हुई है। पिछले कुछ समय में उन्होंने जो कुछ किया है, उसका उन्हें पूरा श्रेय दिया जाना चाहिए। इसलिए यहां बैठकर मैं यह नहीं कहूंगा कि वे दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीम नहीं हैं क्योंकि रैंकिंग प्रणाली एक कारण से है। लेकिन तथ्य यह है कि हम अपने घर पर खेल रहे हैं और इसलिए हम उनसे अधिक मजबूत स्थिति में हैं।

इस साल की शुरुआत में ऑस्ट्रेलिया को उनके घर जाकर 2-1 से हराने के बाद भारत ने पहले विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फ़ाइनल में प्रवेश किया था। हालांकि वहां उसे न्यूजीलैंड के हाथों हार का सामना करना पड़ा। इसके बाद टीम ने शानदार अंदाज से वापसी करते हुए इंग्लैंड को चार मैचों में 2-1 से पछाड़ा जबकि बढ़ते कोरोना मामलों के कारण सीरीज का आखिरी मैच अब 2022 में खेला जाएगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co