क्विंटन डिकॉक के घुटने टेकने से इनकार करने पर टीम हैरान : तेम्बा बावुमा
क्विंटन डिकॉक के घुटने टेकने से इनकार करने पर टीम हैरान : तेम्बा बावुमाSyed Dabeer Hussain - RE

क्विंटन डिकॉक के घुटने टेकने से इनकार करने पर टीम हैरान : तेम्बा बावुमा

बावुमा ने कहा, क्विंटन डिकॉक के घुटने टेकने से इनकार करने और फिर वेस्टइंडीज के खिलाफ मैच से हटने से दक्षिण अफ्रीका के खिलाड़ी 'हैरान और हतप्रभ' थे।

दुबई। शीर्ष क्रम के बल्लेबाज क्विंटन डिकॉक के घुटने टेकने से इनकार करने और फिर वेस्टइंडीज के खिलाफ मैच से हटने से दक्षिण अफ्रीका के खिलाड़ी 'हैरान और हतप्रभ' थे, लेकिन यह नहीं पता कि डिकॉक वास्तव में रंगभेद के विरोध में खिलाड़ियों के द्वारा शुरू की गई पहल के समर्थन के खिलाफ क्यों हैं। डिकॉक आने वाले दिनों में अपना रुख स्पष्ट करते हुए एक बयान जारी कर सकते हैं। हालांकि अभी के लिए दक्षिण अफ्रीका के कप्तान तेम्बा बावुमा चाहते हैं कि टीम डिकॉक के फ़ैसले का सम्मान करे।

बावुमा ने कहा, ''एक टीम के रूप में, हम इस खबर से हैरान और स्तब्ध हैं। क्विंटन टीम के लिए एक बड़ा खिलाड़ी है, न केवल बल्ले से, बल्कि एक वरिष्ठ खिलाड़ी होने के द्रष्टिकोण से भी वह टीम के लिए काफ़ी अहम हैं। यह जाहिर तौर पर कुछ ऐसा है जिसकी मैं उम्मीद नहीं कर रहा था।''

उन्होंने वेस्टइंडीज पर दक्षिण अफ्रीका की जीत के बाद कहा, 'क्विंटन एक वयस्क है। वह अपने फ़ैसले लेने में सक्षम हैं। हम उनके फ़ैसले का सम्मान करते हैं, हम उसके विश्वासों का सम्मान करते हैं, और मुझे पता है कि उन्होंने जो निर्णय लिया है, वह सोच-समझ कर लिया होगा।''

बावुमा और उनकी टीम को उनके क्रिकेट बोर्ड से मंगलवार को दुबई में वेस्टइंडीज के खिलाफ खेले जाने वाले मैच से 5 घंटे पहले एक निर्देश मिला, जिसमें खिलाड़ियों को हर मैच से पहले सामूहिक रूप से घुटने टेकने के लिए कहा गया था। बावुमा ने खुलासा किया, ''दुबई जाने के लिए बस में चढ़ने से पहले, खिलाडियों को यह संदेश दिया गया था।''बावुमा ने कहा, ''अबू धाबी से दुबई की डेढ़ से दो घंटे की यात्रा के दौरान, क्विंटन ने अपना निर्णय लिया, टीम के पास यह पता लगाने का समय नहीं था कि डिकॉक इस फ़ैसले को मानने से क्यों इनकार कर रहे हैं।''

कप्तान ने कहा, ''मुझे कप्तान के रूप में तब इस फ़ैसले के बार में पता चला जब मैं चेंज रूम में गया। हमारे पास इस मामले पर पूरी तरह से चर्चा करने के लिए काफ़ी कम समय था।'' उन्होंने कहा कि एक कप्तान के रूप में यह मेरे लिए सबसे कठिन दिनों में से एक था। कप्तान के रूप में ऐसे मामलों से निपटना आसान नहीं है लेकिन राहत की बात यह है कि हमारी टीम 8 विकेट से मैच जीत गई।

बावूमा ने कहा, ''इस पर हर किसी की अपनी राय है, लेकिन जैसा कि मैंने हमेशा कहा है, एक बार जब आप शिक्षित हो जाते हैं तो कई चीजों को समझने लगते हैं और समझने के लिए तैयार हो जाते हैं। मुझे लगता है कि शिक्षा ही कुंजी है और हम ऐसा नहीं चाहते हैं कि कोई हमारे लिए रंगभेद का विरोध सिर्फ इसलिए करे क्योंकि वह हमारे प्रति खेद महसूस कर रहा है।''

उन्होंने कहा कि जो खिलाड़ी डिकॉक के फै़सले के बारे में अधिक जानना चाहते हैं, वे श्रीलंका के खिलाफ शनिवार को दक्षिण अफ़्रीका के अगले मैच से पहले पता लगा सकते हैं। बवूमा ने कहा 'अगले मैच से पहले हमारे पास कुछ दिन हैं और मुझे लगता है कि वे दिन हमारी टीम के लिए एक समूह के रूप में कठिन होंगे। जो लोग उसके फ़ैसले के बारे में जानना चाहते हैं,उन्हें आने वाले मैच के दौरान पता लग जाएगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co