इंग्लैंड के विश्व कप मिशन में रोड़ा बन सकती है यूएई की धीमी पिच
इंग्लैंड के विश्व कप मिशन में रोड़ा बन सकती है यूएई की धीमी पिचSocial Media

इंग्लैंड के विश्व कप मिशन में रोड़ा बन सकती है यूएई की धीमी पिच

पिछली 11 सीरीज में से जो सिर्फ एक हार इंग्लैंड को मिली थी वह अहमदाबाद की धीमी पिचों पर हुई सीरीज में ही मिली थी।ऐसे में टी20 विश्व कप की पिच इंग्लैंड के बल्लेबाजो के लिए किसी इम्तिहान से कम नहीं होगी।

दुबई। पांच साल पहले इंग्लैंड टी20 विश्वकप ट्रॉफ़ी पर कऱीब-कऱीब कब्ज़ा कर चुका था, लेकिन फिर कार्लोस ब्रैथवेट ने बेन स्टोक्स के खिलाफ चार गेंदों पर चार छक्के लगाते हुए वेस्टइंडीज को विश्व विजेता बना दिया। इस हार से बदला लेने के मौक़े पर भी इंग्लैंड को गहरा आघात पहुंचा है। टी20 विश्व कप टीम में उनके दो सुपर हीरो मौजूद नहीं हैं - जोफ़्रा आर्चर और बेन स्टोक्स। पिछले साल इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के मोस्ट वैल्यूबल प्लेयर (एमवीपी) रहे आर्चर कोहनी की चोट की वजह से टीम का हिस्सा नहीं हैं। जबकि स्टोक्स ने मानसिक स्वास्थ्य लाभ लेने के अपने फ़ैसले को अभी भी जारी रखा है। हालांकि उनकी उंगली में लगी चोट में अब सुधार है लेकिन विश्व कप के लिए उन्होंने खुद को उपलब्ध नहीं बताया।

हालांकि इसके बाद भी इंग्लैंड की दावेदारी काफ़ी मजबूत मानी जा रही है, क्योंकि उनकी बल्लेबाजी इस फ़ॉर्मैट के लिए बेहतरीन है। पिछले तीन सालों में क्रिकेट के इस सबसे छोटे फ़ॉर्मैट में उनका वर्चस्व क़ाबिल-ए-तारीफ़ है। इयोन मोर्गन की इस टीम ने टी20 के लिए खुद को एक अलग तरीक़े से तैयार किया है। उनका आक्रामक रवैया इस फ़ॉर्मैट में उन्हें दूसरों से अलग बनाता है।

पिछली 11 टी20 अंतर्राष्ट्रीय द्विपक्षीय सीरीज में इंग्लैंड को नौ बार जीत मिली है, जबकि एक श्रृंखला बराबरी पर समाप्त हुई थी और सिर्फ एक बार ही उन्हें हार मिली है। पिछले साल घर में खेलते हुए उन्होंने श्रीलंका और पाकिस्तान के खिलाफ छह में से पांच मैच जीते थे। हालांकि इसी साल मार्च में भारत के खिलाफ भारत में हुई टी20 अंतर्राष्ट्रीय सीरीज में उन्हें 2-3 से हार मिली थी। जिसके बाद उनकी कुछ कमजोरियां भी उजागर हुई हैं। हाल ही में पाकिस्तान दौरा रद्द करने का मतलब है कि उनके कई खिलाड़ियों को मैच प्रैक्टिस नहीं मिल पाई है।

इंग्लैंड के वे खिलाड़ी जिन्होंने आईपीएल के दूसरे चरण में हिस्सा लिया था, उनमें से ज्यादातर यूएई की धीमी पिचों पर परेशान दिखे थे। पिछली 11 सीरीज में से जो सिर्फ एक हार इंग्लैंड को मिली थी वह भी अहमदाबाद की धीमी पिचों पर हुई सीरीज में ही मिली थी। ऐसे में टी20 विश्व कप की पिच इंग्लैंड के आक्रामक बल्लेबाजो के लिए किसी इम्तिहान से कम नहीं होगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.