ड्रॉप होने के बाद वरुण वापसी करने के लिए और प्रेरित होंगे : वेटोरी
ड्रॉप होने के बाद वरुण वापसी करने के लिए और प्रेरित होंगे : वेटोरीSocial Media

ड्रॉप होने के बाद वरुण वापसी करने के लिए और प्रेरित होंगे : वेटोरी

न्यूजीलैंड और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के पूर्व कप्तान डेनियल वेटोरी को लगता है कि ड्रॉप करना वरुण की फॉर्म को पुनर्जीवित करने का एक तरीका हो सकता है।

मुम्बई। न्यूजीलैंड और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के पूर्व कप्तान डेनियल वेटोरी का मानना है कि वरुण चक्रवर्ती को 'प्लान बी की सख्त जरूरत है। 'ईएसपीएनक्रिकइंफो के विशेष शो टी20 टाइम-आउट पर वेटोरी ने कहा कि शीर्ष गुणवत्ता वाले बल्लेबाजों के विरुद्ध, जो उनकी गेंदबाजी को समझने लगे हैं, नहीं चल पाना इस सीजन में वरुण की खराब फॉर्म का कारण बन चुका है। मंगलवार को कोलकाता नाइट राइडर्स ने वरुण को एकादश से बाहर रखा था। उनकी जगह युवा तेज गेंदबाज हर्षित राणा को मौका दिया गया क्योंकि कोलकाता लगातार चार हार के बाद अंक तालिका में आगे बढ़ने का प्रयास कर रही थी।

वेटोरी ने कहा, उनके आंकड़े अच्छे नहीं हैं। उनकी गेंदबाजी पिछले सीजन की तरह घातक भी नहीं नजर आ रही है। वह गेंद को ज्यादा स्पिन नहीं करवाते जिससे बल्लेबाज उनपर आसानी से आक्रमण कर सकते हैं। शायद इन सब कारणों की वजह से कोलकाता ने (उन्हें ड्रॉप करने का) यह निर्णय लिया है। उन्होंने कहा, शायद वह उन्हें बेहतर प्रदर्शन करने के लिए प्रेरित करना चाहते थे। वह पिछले साल की तुलना में एक अलग ही गेंदबाज नजर आ रहे हैं।

इस सीजन में वरुण ने आठ मैचों में केवल चार विकेट अपने नाम किए हैं, वह भी 8.82 की इकॉनमी के साथ। पिछले तीन मैचों में उन्होंने चार ओवरों का स्पेल पूरा नहीं किया हैं और विकेट भी उनके हाथ नहीं लगी है। इस दौरान उन्होंने 12 की इकॉनमी से रन लुटाए हैं। यह आईपीएल 2021 की सफलता के बाद उनके फॉर्म में भारी गिरावट है। 17 मैचों में 18 विकेट लेकर वरुण ने कोलकाता को फाइनल में पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई थी।

वेटोरी को लगता है कि ड्रॉप करना वरुण की फॉर्म को पुनर्जीवित करने का एक तरीका हो सकता है। आईपीएल में बेंगलुरु और बीबीएल में ब्रिस्बेन हीट के कोच होने के नाते उन्हें भी ऐसे कठिन निर्णय लेने पड़े हैं। वरुण को ड्रॉप करने के बावजूद कोलकाता को इस सीजन में लगातार पांचवीं और कुल मिलाकर छठी हार का सामना करना पड़ा। यहां से उनके लिए प्लेऑफ की राह और कठिन हो चुकी है।

वेटोरी ने कहा, जब आप खराब फॉर्म से गुजरते हैं तो आपको ड्रॉप होने का इंतजार रहता है। जब आप लगातार खेलते रहते हैं, आपको पता लगाने का मौका नहीं मिलता कि आखिर क्या गलत हो रहा है। इसलिए यदि आप किसी खिलाड़ी को बातचीत करने के बाद ड्रॉप करते हैं तो वह खुद को रिसेट कर सकते हैं।"

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.