कोहली को रास नहीं आएगा की हर प्रारूप में हो अलग कप्तान: नासिर हुसैन
कोहली को रास नहीं आएगा की हर प्रारूप में हो अलग कप्तान: नासिर हुसैन |Syed Dabeer Hussain - RE
खेल

कोहली को रास नहीं आएगा कि हर प्रारूप में हो अलग कप्तान: नासिर हुसैन

इंग्लैंड क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन का मानना है कि विराट कोहली खेल के अलग-अलग प्रारूपों में कप्तानी बांटना पसंद नहीं करेंगे।

राज एक्सप्रेस

राज एक्सप्रेस

राज एक्सप्रेस। इंग्लैंड क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन का मानना है कि भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली इतने प्रभावशाली हैं कि वह खेल के अलग-अलग प्रारूपों में कप्तानी बांटना पसंद नहीं करेंगे।

नासिर ने क्रिकबज पर एक साक्षात्कार के दौरान कहा, ''भारत में अलग-अलग प्रारूप में कप्तान होना संभव नहीं है। विराट बेहद प्रभावशाली हैं और उनके लिए खेल के किसी भी प्रारूप में किसी अन्य खिलाड़ी के साथ कप्तानी बांटना मुश्किल होगा और वह ऐसा करना पसंद नहीं करेंगे।"

विराट वर्तमान में तीनों फॉर्मेट में भारतीय टीम के कप्तान है जिसकी वजह से उन पर कभी-कभार अत्याधिक दबाव आ जाता है। इसी दबाव को लेकर नासिर ने कहा कि इंग्लैंड ने पिछले कुछ वर्षों में कप्तानी बांटने का तरीका अपनाया है जिसमें सीमित ओवर के कप्तान इयोन मॉर्गन हैं और टेस्ट टीम के कप्तान जो रूट हैं।

पूर्व इंग्लिश कप्तान ने कहा कि क्रिकेट में कप्तानी बांटना कोई बुरा विचार नहीं है। उन्होंने कहा,''कोच इसमें अहम भूमिका निभा सकते हैं और हम अलग प्रारूप के लिए अलग कोच भी नियुक्त कर सकते हैं। इंग्लैंड के पूर्व कोच रहे ट्रेवर बेलिस सीमित ओवर में प्रभावी दिखाई दिए लेकिन उतना प्रभाव टेस्ट क्रिकेट में नहीं दर्शा सके।"

उन्होंने यह भी कहा कि भारतीय टीम प्रबंधन खिलाडिय़ों के चयन को लेकर भी उलझा हुआ दिखाई देता है जैसा वर्ष 2019 विश्व कप में न्यूज़ीलैण्ड के खिलाफ सेमीफाइनल मुकाबले में देखा गया था।

नासिर ने भारतीय टीम में नंबर चार पर बल्लेबाजी की गुत्थी को लेकर भी कहा कि इतने सारे शानदार बल्लेबाज होने के बाद भी नंबर चार के खिलाड़ी की तलाश पूरी नहीं हो सकी है। उन्होंने कहा कि भारतीय प्रबंधन में एक बात सही नहीं है वह यह कि भारत में इतने सारे प्रतिभाशाली खिलाड़ी हैं, कि दो मुकाबलों में विफल होने के बाद किसी और खिलाड़ी को मौका दे दिया जाता है और फिर उसके बाद किसी और को।

डिस्क्लेमर: यह आर्टिकल न्यूज एजेंसी फीड के आधार पर प्रकाशित किया गया है। सिर्फ शीर्षक में बदलाव किया गया है। अतः इस आर्टिकल अथवा समाचार में प्रकाशित हुए तथ्यों की जिम्मेदारी राज एक्सप्रेस की नहीं होगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co