कहीं अनुष्का तबाह न कर दें कोहली का विराट करियर!
धार्मिक मान्यताओं को ठेस, लाभ के दोहरे पद का मामला!Syed Dabeer Hussain - RE

कहीं अनुष्का तबाह न कर दें कोहली का विराट करियर!

"कैसे भी नाम कमाने का धंधा भारत में जोरों पर है। भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान की धर्म पत्नी अनुष्का शर्मा कोहली भी इस राह पर चलती दिख रही हैं। लेकिन ऐसे में कोहली का विराट करियर दांव पर लग सकता है।"

हाइलाइट्स

पाताल लोक से कोहली पर विराट संकट!

अनुष्का हैं इस वेब सीरीज़ की सह-निर्माता

मुखर हुई मेकर्स पर सख्त कार्रवाई की मांग

धार्मिक मान्यताओं को ठेस पहुंचाने की शिकायत

राज एक्सप्रेस। जब से ऑन लाइन वेब सीरीज युग का आगमन हुआ है रचनात्मकता के नाम पर भारतीय धार्मिक, पौराणिक महत्व के धर्म ग्रंथों, कथा, साहित्य के साथ जमकर खिलवाड़ किया जा रहा है। भारतीय धार्मिक चरित्रों को गलत तरीके से पेश करने की जैसे होड़ सी लगी है। इस कड़ी में ताजा विवाद की जड़ हैं भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली की धर्म पत्नी अनुष्का शर्मा कोहली!।

बदनाम हुए तो क्या -

वो कुछ बेशर्म कहते हैं न बदनाम हुए तो क्या, नाम तो हुआ! इसी तर्ज पर कैसे भी नाम-दाम कमाने का धंधा भारत में जोर पर है। भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान की धर्म पत्नी अनुष्का शर्मा कोहली भी इस राह पर चलती दिख रही हैं। लेकिन ऐसे में कोहली का विराट करियर दांव पर लग सकता है।

विवाद-1 – फारुख इंजीनियर मामला -

अनुष्का शर्मा कोहली का विवादों से जैसे गहरा नाता रहा है। वो वर्ल्ड कप दौरान सिलेक्टर्स कमेटी मेंबर द्वारा चाय सर्व करने संबंधी मुद्दे पर फैमिली बॉक्स में बैठकर चाय के बजाय कॉफी पीने संबंधी लंबा-चौड़ा, बड़ा सा जवाब न्यायालय बन चुके ट्विटर अकाउंट से तो देती हैं लेकिन जब बारी आती है भारतीय मान्यताओं को ठेस पहुंचाने से जुड़े मुद्दों की तो उनकी चुप्पी खल जाती है।

दरअसल भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व बल्लेबाज फारुख इंजीनियर ने सिलेक्शन कमेटी को “मिकी माउस सिलेक्शन कमेटी” जताकर भारतीय क्रिकेट टीम कप्तान विराट कोहली की धर्म पत्नी एक्ट्रेस-प्रोड्यूसर अनुष्का शर्मा को स्पेशल ट्रीटमेंट देने का आरोप लगाया था।

उन्होंने कमेटी सदस्य द्वारा अनुष्का को दर्शक दीर्घा में चाय तक सर्व करने की गंभीर बात कही थी। जिसके बाद अनुष्का ने लंबा चौड़ा जवाब पेश किया था। इसे पढ़िये - पूर्व बल्लेबाज फारुख इंजीनियर के बयानों पर अनुष्का ने तोड़ी चुप्पी

विवाद-2 – #VirushkaDivorce -

आपको पता हो विराट कोहली और अभिनेत्री से प्रोड्यूसर बनी उनकी पत्नी अनुष्का शर्मा के बारे में ट्विटर पर हैशटैग विरुष्का डायवोर्स (#VirushkaDivorce) ट्रेंड हुआ था। अनुष्का शर्मा की वेब सीरीज रिलीज होने के बाद अनुष्का की काफी आलोचना हुई। ट्रोलर्स ने विरुष्का के तलाक की खबरों पर एक बार फिर जमकर रायशुमारी की। तलाक की खबरों के पीछे का आधार साल 2016 में विराट-अनुष्का के अलग होने की तमाम मसालेदार खबरें थीं।

दरअसल अनुष्का शर्मा के प्रोडक्शन में बनी वेब सीरीज पाताल लोक पर आपत्ति जताकर बीजेपी एमएलए नंदकिशोर शर्मा ने विराट को अनुष्का से तलाक तक देने की राय दे डाली थी। जिसके बाद विराट कोहली और अनुष्का शर्मा के अलग होने की खबर फिर से वायरल हो गई। गौरतलब है सामने आई वायरल न्यूज़ साल 2016 के फरवरी में पहली बार ट्रेंड हुई थी। विस्तार से जानने इसे पढ़ें - क्यों फैल रही विराट-अनुष्का के तलाक की झूठी खबर, जानें पूरा सच

विवाद-3 – गोरखा समुदाय की भावनाएं -

अनुष्का शर्मा की वेब सीरीज 'पाताल लोक' के एक दृश्य में गोरखा समुदाय की भावनाओं को आहत करने के लिए प्रोडक्शन हाउस के जिम्मेदारों को लीगल नोटिस थमा दिया गया।

सीरीज 15 मई 2020 को रिलीज़ की गई थी। इसके एक दृश्य में गोरखा समुदाय की भावनाओं को आहत करने का आरोप वकील गिल्ड के सदस्य वीरेन गुरुंग ने लगाकर 18 मई को सह-निर्माता अनुष्का को एक नोटिस भेजा था।

रिपोर्ट्स के मुताबिक तब गुरुंग ने अनुष्का और उनकी टीम से जवाब नहीं मिलने की दशा में ओटीटी प्लेटफॉर्म अमेजन प्राइम वीडियो तक को कोर्ट में ले जाने की बात कही थी।

इस दृश्य पर विवाद - आरोप के मुताबिक वेब सीरीज 'पाताल लोक' के पुलिस जांच के दृश्य में कलाकार पुलिस ने अपशब्द का इस्तेमाल किया था। नोटिस जारीकर्ता के मुताबिक "पाताल लोक के दूसरे एपिसोड में नेपाली किरदार से जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल किया गया है।

ऑनलाइन पिटीशन - नोटिस भेजने के बाद गुरुंग ने ऑनलाइन पिटीशन कार्रवाई तक शुरू कर दी थी। जिसमें आरोप था कि रचनात्मक स्वतंत्रता के नाम पर नस्लवादी हमले स्वीकार नहीं किये जाएंगे। उन्होंने मामले में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से हस्तक्षेप कर सहभागी अमेजन और प्रोड्यूसर अनुष्का शर्मा से माफी मंगवाने की भी अपील की थी।

विस्तार से जानें इस आर्टिकल में - विवादों में फंसी पाताल लोक, अनुष्का शर्मा को मिला लीगल नोटिस

विवाद-4 थाने पहुंचा मामला –

इस मामले में तो BJP के MLA ने उनकी तस्वीर का दुरुपयोग करने संबंधी अनुष्का की एक शिकायत थाने में तक कर डाली। दरअसल "पाताल लोक की सह-निर्माता अनुष्का शर्मा को एक कथित जातिवादी मामले के लिए कानूनी नोटिस भेजे जाने के बाद अमेज़ॅन प्राइम मूल श्रृंखला फिर विवाद में फंस गई।

दरअसल उत्तर प्रदेश में बीजेपी के एक विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने अनुष्का की शिकायत थाने में दर्ज कराई थी। जिसमें आरोप था कि; सीरीज में बिना इजाजत उनकी फोटो का इस्तेमाल किया गया।

मॉर्फ्ड इमेज - शिकायत के मुताबिक विधायक की विवादित फोटो को धारावाहिक श्रृंखला के काल्पनिक पात्रों को शामिल करने के लिए मॉर्फ किया गया है। इसमें शिकायतकर्ता विधायक गुर्जर का चित्र भी शामिल था।

भाजपा की छवि धूमिल - मामले को ट्विटर पर पेश कर विधायक ने हैश टैग बैन पाताल लोक (#BanPaatalLok) मुद्दे को उठाया था। इसमें दावा था कि यह वेब सीरीज भाजपा की छवि को धूमिल करने की तय कोशिश है।

दरअसल यूपी में लोनी के विधायक ने पाताल लोक सीरीज को "देशद्रोही" पेशकश तक करार दिया था। उन्होंने शिकायत में आरोप लगाया था कि यह कार्यक्रम सनातन धर्म में जातियों और विभिन्न हिंदू शाखाओं के बारे में नकारात्मक तरीके से पेश किया गया है।

क्या था मामला? –

दुर्भावना से ग्रसित - सीरीज के पार्ट में गुर्जर की तस्वीर का इस्तेमाल एक ऐसे सीन में करने का आरोप लगाया गया था जिसमें बालकृष्ण बाजपेयी नाम के एक विरोधी चरित्र को पेश किया गया था जो एक राष्ट्रीय राजमार्ग का उद्घाटन कर रहा है। शिकायत के मुताबिक मूल फोटो में उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ सहित कई भाजपा नेता दृष्टव्य थे!

राजनेता का आरोप था कि वेब श्रृंखला गुर्जर को डकैतों और ऐसे समुदाय के रूप में दर्शाती है कि वो दुर्भावना से ग्रसित हों। आपत्ति की गई थी कि वेब सीरीज में भारत की विभिन्न जातियों मूलतः जाट, ब्राह्मण और त्यागी के बीच अशांति पैदा करने की भी कोशिश की जा रही है।

पाकिस्तान की छवि – शिकायतकर्ता का आरोप था कि; भारतीय जनता पार्टी की छवि खराब करने के साथ ही वेब सीरीज़ में पाकिस्तान की आतंक-मुक्त छवि पेश करने की तक नापाक कोशिश की गई है। गुर्जर ने सांप्रदायिकता भड़काने के आरोप लगाकर अनुष्का शर्मा पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत केस दर्ज करने की मांग की थी। विस्तार से जानें इस आर्टिकल में - मृत्यु लोक में पाताल लोक पर गहराया संकट!

विवाद-5 – 'XXX2'-'बुलबुल' से नाराज ‘हिंदुस्तानी भाऊ’ -

अब बात आती है अनुष्का के प्रोडक्शन में बने नेटफ्लिक्स प्रजेंटेशन 'बुलबुल' की। अनुष्का की इस पेशकश पर हिंदुस्तानी भाऊ ने नाराजगी जताई। जी हां बिग बॉस 13 के चर्चित कंटेस्टेंट ये वही हिंदुस्तानी भाऊ हैं जिनको अनुष्का की प्रस्तुति में भगवान का अपमान रास नहीं आया। ये भी पहुंच गए ट्विटर पर और लिखा –

"अनुष्का शर्मा की बुलबुल वेब सीरीज में भगवान श्री कृष्ण और राधा को गंदी भाषा से अपमानित किया गया है। क्या ऐसे लोगों पर ये सरकार कार्रवाई करेगी? अब तक एकता कपूर पर कोई भी कार्रवाई क्यों नहीं की? कब तक ऐसे लोग हमारे देश को बदनाम करेंगे।"

हिंदुस्तानी भाऊ, एक टीवी कार्यक्रम के चर्चित कंटेस्टेंट

उन्होंने तो महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से विवादित ‘बुलबुल’ की मालकिन प्रोड्यूसर अनुष्का पर कार्रवाई करने की अपील की थी। इसके अलावा एकता कपूर की वेब सीरीज ट्रिपल 'एक्स- अनसेंसर्ड 2' पर भी वे आपत्ति जताकर थाने तक लिखा-पढ़ी कर चुके हैं। साथ ही शिकायत पर कार्रवाई नहीं होने पर लगातार सवाल भी पूछते रहे।

भाऊ ने एकता कपूर वाली सीरीज में सेना की वर्दी का अपमान कर देश की एकता भंग करने का आरोप लगाया था। गौरतलब है ऑल्ट बालाजी वेब सीरीज के 'XXX2' के एक एपिसोड में भारतीय सेना का अपमान करने संबंधी दृश्य के लिए टीवी और फिल्म प्रोडक्शन कंपनी के अलावा एकता कपूर की थाने में शिकायत की गई थी। विस्तार से पढ़ें - हिंदुस्तानी भाऊ के निशाने पर अनुष्का, 'बुलबुल' पर लगाया आरोप

विवाद-6 मादा श्वान का नाम –

पायल रोहतगी नाम तो सुना होगा आपने? जी हां बिग बॉस की प्रतिभागी पायल रोहतगी ने भी सीरीज में मादा श्वान का नाम पौराणिक पूजनीय चरित्र आधारित होने पर खुलकर राय ट्विटर पर रखी थी।

उन्होंने तो मादा श्वान का नाम सीरीज में अनुष्का तक रखने की बात कही थी। गौरतलब है उनका ट्विटर अकाउंट एक बार फिर सस्पेंड कर दिया गया है! हालांकि इस बार उन्होंने बीईंग ह्यूमन कहने वाले कथित स्टार के साथियों का नाम लिया है।

सनद रहे इस सीरीज के एक पार्ट में एक मादा श्वान का नाम भारतीय पौराणिक चरित्र के नाम पर रखने पर भी हिंदू वर्ग के बड़े वर्ग ने आपत्ति जताई है। इतना ही नहीं विरोध स्वरूप यूट्यूब और तमाम सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर अनुष्का के खिलाफ लोगों ने अपना रोष जाहिर किया।

लोग सवाल पूछ रहे हैं कि सीरीज़ में मादा श्वान का नाम पूजनीय चरित्र के नाम पर रखने का आखिर क्या औचित्य था? लोगों के रोष से इसे समझा जा सकता है। इन लिंक्स* पर देखें- (* जैसी आम राय हमें सोशल मीडिया संसार में देखने को मिली। राज एक्सप्रेस का मकसद सिर्फ विचारों से अवगत कराना है। लोगों की यह अपनी राय है।)

विवाद-7 सिक्खों की शिकायत-

इसी वेबसीरीज के मामले में सिक्ख धर्म के लोगों ने भी धार्मिक मान्यताएं आहत होने की बात कही है। उनका कहना है कि भारतीय होकर मात्र चंद रुपयों के लिए भारतीयों को धार्मिक ठेस पहुंचाना आखिर कितना उचित है? इस लिंक* पर देखें- (* जैसी आम राय हमें सोशल मीडिया संसार में देखने को मिली। राज एक्सप्रेस का मकसद सिर्फ विचारों से अवगत कराना है। लोगों की यह अपनी राय है।)

संकट में कोहली कैसे? –

अनुष्का के विवादों के बाद कहीं न कहीं गाज उनके पति विराट कोहली पर आन गिरी है। कोहली को अब चारों तरफ से घेरा जा रहा है। हितों के टकराव संबंधी एक मामले में विराट कोहली लपेटे में आ गए हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली की मध्य प्रदेश क्रिकेट संघ (MPCA) के आजीवन सदस्य संजीव गुप्ता ने हितों के टकराव संबंधी मामले में शिकायत की थी।

नोटिस नहीं मिला! - गुप्ता का आरोप है कि कोहली एक ही समय पर दो पदों पर काबिज हैं जो कि सुप्रीम कोर्ट की ओर से अनुमोदित BCCI के नियम 38(4) का उल्लंघन है। इस कारण कोहली को अपने किसी एक पद को त्याग देना चाहिये। हालांकि इस मामले में तब बीसीसीआई के आचार अधिकारी डीके जैन ने सफाई दी कि कप्तान विराट कोहली या टीम को अभी तक कोई नोटिस नहीं मिला!

गुप्ता का आरोप – रिपोर्ट्स के मुताबिक संजीव गुप्ता का दावा है कि विराट कोहली कॉर्नरस्टोन वेंचर पार्टनर्स एलएलपी और स्पोर्ट्स एलएलपी में निदेशक हैं। इस कारण उनका एक समय में दो पद संभालना भारत के सर्वोच्च न्यायालय का उल्लंघन है। गौरतलब है कि मामले में संजीव गुप्‍ता ने बीसीसीआई लोकपाल को एक मेल भी किया है।

कथित रचनात्मकता की सजा -

मतलब साफ है कि; अनुष्का के कर्मों की सजा भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली को भुगतना पड़ सकती है। एक बड़ी लॉबी उनके खिलाफ आरोपों की गुगली के साथ सक्रिय नजर भी आ रही है।

हालांकि लोग अनुष्का से नाराज हैं लेकिन इस बारे में पति विराट की ओर से कोई सफाई या बयान न दिये जाने से अब कप्तान कोहली विरोधी स्वर भी बुलंद हो रहे हैं। कहना गलत नहीं होगा कि अनुष्का शर्मा की कथित रचनात्मकता के चक्कर में हुनरमंद कोहली का विराट करियर कहीं तबाह न हो जाए! क्योंकि भारत में धार्मिक भावनाओं का मामला जरा ज्यादा ही पेचीदा होता है।

डिस्क्लेमर – आर्टिकल प्रचलित रिपोर्ट्स पर आधारित है। इसमें शीर्षक-उप शीर्षक और संबंधित अतिरिक्त प्रचलित जानकारी जोड़ी गई हैं। इस आर्टिकल में प्रकाशित तथ्यों की जिम्मेदारी राज एक्सप्रेस की नहीं होगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co