भारत को गेंदबाजों के रंग में लौटने का इंतजार
भारत को गेंदबाजों के रंग में लौटने का इंतजारSocial Media

भारत को गेंदबाजों के रंग में लौटने का इंतजार

भारतीय टीम जब रविवार को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरा टी20 मैच खेलने उतरेगी तब वह उम्मीद करेगी कि युजवेंद्र चहल, हर्षल पटेल और भुवनेश्वर कुमार अपने पुराने रंग में लौट आए।

हैदराबाद। भारतीय टीम जब रविवार को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरा टी20 मैच खेलने उतरेगी तब वह उम्मीद करेगी कि युजवेंद्र चहल, हर्षल पटेल और भुवनेश्वर कुमार अपने पुराने रंग में लौट आयें। तीन मैचों के श्रृंखला में आते हुए भारत के सामने गेंदबाजी और मध्यक्रम की बल्लेबाजी से जुड़े सवाल थे। सूर्यकुमार यादव और हार्दिक पांड्या ने पहले टी20 मैच में विस्फोटक बल्लेबाजी करते हुए भारत को 208 रन तक पहुंचाया, लेकिन गेंदबाज इस बड़े लक्ष्य की रक्षा नहीं कर सके। वर्षा बाधित नागपुर टी20 के लिये भुवनेश्वर को टीम में जगह नहीं दी गई, हालांकि हर्षल और चहल के फॉर्म से जुड़ी समस्याएं साफ झलक रही थी।

टी20 विश्व कप से सिर्फ चार मैच दूर भारत को हैदराबाद में हर्षल और चहल के फॉर्म में लौटने का बेसब्री से इंतजार होगा। डेथ ओवर में गेंदबाजी के विशेषज्ञ हर्षल चोट से वापसी करने के बाद लय हासिल नहीं कर सके हैं। उन्होंने दो मैचों में छह ओवर डालकर 81 रन दिये हैं और वह इस श्रृंखला के सबसे महंगे गेंदबाज हैं। जसप्रीत बुमराह ने चोट से उभरकर वापसी करते हुए एरोन फिंच का विकेट लिया, जिससे भारत की चिंताए कुछ कम हुई होंगी। यदि भुवनेश्वर तीसरा टी20 खेलते हैं तो उनसे उम्मीद होगी कि वह बुमराह के साथ मिलकर एशिया कप से चले आ रहे डेथ ओवर के अपने खराब प्रदर्शन पर पूर्ण विराम लगा देंगे।

अक्षर पटेल ने भी अब तक रवींद्र जडेजा की कमी को बखूबी पूरा किया है। उन्होंने मोहाली में चार ओवर में 17 रन देकर तीन विकेट लिये, जबकि नागपुुर में दो ओवर में सिर्फ 13 रन देकर दो विकेट चटकाये। रोहित शर्मा, लोकेश राहुल, विराट कोहली और सूर्यकुमार यादव का प्रदर्शन अच्छा रहा लेकिन वे निरंतरता के साथ बड़े रन बनाने में असफल रहे हैं। लेग स्पिन गेंदबाजी खासकर चारों बल्लेबाजों के लिये समस्याएं खड़ी करती आयी है। ऐडम जैम्पा ने दूसरे मैच में राहुल, विराट और सूर्यकुमार को आउट करके इस कमजोरी का बखूबी फायदा उठाया था।

दूसरी ओर, ऑस्ट्रेलिया को भी उसकी गेंदबाजी से जुड़ी चिंताए सता रही होंगी। नेथन एलिस की अनुपस्थिति में पैट कमिंस, जॉश हेजलवुड और डैनियल सैम्स ने 11 से अधिक की रनगति से रन लुटाये। मैथ्यू वेड शानदार फॉर्म से गुजर रहे हैं और दो मैचों में 200 के स्ट्राइक रेट से 88 रन बना चुके हैं। ग्लेन मैक्सवेल और टिम डेविड अगर लय हासिल कर लें तो ऑस्ट्रेलियाई मध्यक्रम भारतीय गेंदबाजों को नाकों चने चबवाने की क्षमता रखता है।

टीमें :

ऑस्ट्रेलिया : आरोन फिंच (कप्तान), सीन एबॉट, एश्टन एगर, पैट कमिंस, टिम डेविड, नाथन एलिस, कैमरन ग्रीन, जोश हेजलवुड, जोश इंगलिस, ग्लेन मैक्सवेल, केन रिचर्डसन, डैनियल सैम्स, स्टीव स्मिथ, मैथ्यू वेड, एडम जैम्पा।

भारत : रोहित शर्मा (कप्तान), केएल राहुल , विराट कोहली, सूर्यकुमार यादव, दीपक हुड्डा, ऋषभ पंत, दिनेश कार्तिक, हार्दिक पांड्या, रविचंद्रन अश्विन, युजवेंद्र चहल, अक्षर पटेल, भुवनेश्वर कुमार, हर्षल पटेल, दीपक चाहर, जसप्रीत बुमराह, उमेश यादव।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co