स्टेडियम खुले, खिलाड़ियों के अभ्यास और IPL पर क्या है BCCI की योजना
स्टेडियम खुले, खिलाड़ियों के अभ्यास और IPL पर क्या है BCCI की योजना|Social Media
खेल

स्टेडियम खुले, खिलाड़ियों के अभ्यास और IPL पर क्या है BCCI की योजना

सरकार द्वारा अब स्टेडियम खुले रखने की इजाजत दी गई है, लेकिन इसमें कोई भी दर्शक मौजूद नहीं होगा।क्या है BCCI की योजना...

Ankit Dubey

राज एक्सप्रेस। भारत में लॉक डाउन-4 की शुरुआत हो चुकी है। केंद्र सरकार ने रविवार को पूरे देश में लागू लॉक डाउन को 31 मई तक बढ़ा दिया है। इस दौरान नई गाइडलाइंस जारी की गई है। सरकार द्वारा अब स्टेडियम खुले रखने की इजाजत दी गई है, लेकिन इसमें कोई भी दर्शक मौजूद नहीं होगा। यह केवल खिलाड़ियों के अभ्यास के लिए खुले रहेंगे। आदेशों का पालन न करने पर कार्रवाई भी की जाएगी। बीसीसीआई भी इन आदेशों का पालन करने में कोई कसर नहीं छोड़ेगी। बीसीसीआई (BCCI) द्वारा कहा गया है कि हम सभी गाइडलाइंस का गंभीरता से पालन करेंगे।

बीसीसीआई द्वारा मिली यह जानकारी

बीसीसीआई द्वारा सरकार से स्टेडियम खोलने की जानकारी मिलने के बाद कहा गया है कि बीसीसीआई गंभीरता से सभी गाइडलाइंस का पालन करेगा। साथ ही अनुबंधित खिलाड़ियों के लिए अभ्यास शिविर लगाए जाने का इंतजार कर रहे हैं।

जानकारी में पता चला है कि 31 मई तक हवाई यात्रा और लोगों के आने-जाने की पाबंदियों को ध्यान में रखते हुए बीसीसीआई अपने अनुबंधित खिलाड़ियों के लिए स्किल आधारित कैंप लगाए जाने का इंतजार करेगी।

जल्दबाजी में नहीं लेंगे कोई फैसला

बीसीसीआई द्वारा आगे यह स्पष्ट कर दिया गया कि उनके लिए खिलाड़ी और सपोर्ट स्टाफ की सुरक्षा सबसे जरूरी है और वह जल्दबाजी में ऐसा कोई फैसला नहीं लेंगे जो भारत को कोरोना वायरस से जारी लड़ाई में मुश्किल पैदा करें।

बीसीसीआई राज्य स्तर की गाइडलाइंस पर भी ध्यान देगा और राज्य क्रिकेट संघ के साथ मिलकर स्थानीय स्तर पर स्किल आधारित अभ्यास सत्र पर विचार करेगा। बीसीसीआई टीम प्रबंधन से बातचीत करना जारी रखेगा और हालत सुधारने तक पूरी टीम के लिए सही योजना बनाएगा।

क्या आईपीएल पर होगा कोई निर्णय

कोरोना वायरस वैश्विक महामारी के चलते फिलहाल आईपीएल के 13वें संस्करण पर खतरे के बादल मंडरा रहे हैं। आईपीएल (IPL) का 13वां संस्करण अब मुश्किल में नजर आता है। भले ही सरकार की गाइडलाइंस के मुताबिक स्टेडियम खोलने की अनुमति हो, लेकिन यह केवल खिलाड़ियों के अभ्यास के लिए खुले हैं और आगे का क्या प्लान होगा इस पर भविष्य में महामारी कि स्थिति सामान्य होने के बाद ही पता चलेगा।

बीसीसीआई नए शेड्यूल पर भी विचार कर रही है, लेकिन आने वाला मॉनसून और खराब मौसम इसमें खलल डाल सकता है। सभी दिक्कतों को देखा जाए तो आईपीएल साल 2020 में होना मुश्किल लगता है। बीसीसीआई के अधिकारी साफ कर चुके हैं कि अगर आईपीएल नहीं होता है तो करीब 4000 करोड़ का नुकसान होगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co