मैदान से नस्लवाद का प्रतीकात्मक विरोध करते रहेंगे : पोलार्ड
मैदान से नस्लवाद का प्रतीकात्मक विरोध करते रहेंगे : पोलार्डSocial Media

मैदान से नस्लवाद का प्रतीकात्मक विरोध करते रहेंगे : पोलार्ड

वेस्टइंडीज के खिलाड़ी टी-20 विश्व कप के हर मैच से पहले घुटने जमीन पर टिकाकर नस्लवाद का विरोध करते रहेंगे। टीम के कप्तान कीरोन पोलार्ड ने इसकी पुष्टि की है।

दुबई। वेस्टइंडीज के खिलाड़ी टी-20 विश्व कप के हर मैच से पहले घुटने जमीन पर टिकाकर नस्लवाद का विरोध करते रहेंगे। टीम के कप्तान कीरोन पोलार्ड ने इसकी पुष्टि की है। मई, 2020 में अमेरिका में जॉर्ज फ़्लॉयड के साथ घटी नस्लवादी घटना के बाद से वेस्टइंडीज के खिलाड़ी और सपोर्ट स्टाफ़ लगातार हर मैचों में ऐसा करके 'ब्लैक लाइव्स मैटर' आंदोलन का समर्थन देते हैं। मंगलवार को दुबई में टीम के ट्रेनिंग कैंप में पत्रकारों से बात करते हुए पोलार्ड ने कहा कि वह ऐसा इस टूर्नामेंट में भी यह करना जारी रखेंगे।

उन्होंने कहा, हम इसे बरकऱार रखने जा रहे हैं, क्योंकि हम इस पर दृढ़ता से विश्वास करते हैं। हम यह समर्थन आगे भी जा रखेंगे। पोलार्ड ने यह भी कहा, मैं नहीं चाहता कि विपक्षी टीम भी ऐसा करे क्योंकि सामने वाली टीम ऐसा कर रही है। यह ऐसी चीज है, जिसको सहानुभूति की नहीं समर्थन की जरूरत है, अगर आपका मन हो तो ही करे।

पोलार्ड ने कहा, नस्लवाद और ब्लैक लाइव्स मैटर पर सबकी अपनी राय है। इसलिए मैं उनसे किसी चीज को करने के लिए नहीं कह सकता और ना ही उनसे उम्मीद करता हूं कि वे ऐसा करें। अगर आप किसी से उम्मीद करते हैं और वैसा नहीं होता है, तो आपको बहुत ही अधिक निराशा मिलती है। अगर विपक्षी टीम भी ऐसा सोचती है, तो यह उन पर निर्भर है कि वे ऐसा करें या ना करें। यह उनकी व्यक्तिगत पसंद है।

इंग्लैंड के तेज गेंदबाज क्रिस जॉर्डन ने मंगलवार को कहा था कि उनकी टीम ने अभी इस पर कोई बात नहीं की है। ग़ौरतलब है कि वेस्टइंडीज का पहला मैच इंग्लैंड के खिलाफ ही है। पिछले साल वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज के दौरान इंग्लैंड टीम ने भी वेस्टइंडीज के खिलाड़ियों के साथ ऐसा किया था। लेकिन इसके बाद पूरे सीजन के दौरान उन्होंने ऐसा नहीं किया, जिसकी पूर्व कैरेबियाई तेज गेंदबाज और कॉमेंटेटर माइकल होल्डिंग ने आलोचना की थी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.