पाकिस्तान में महंगाई की मार, जानिये क्यों है जनता लाचार ?

पाकिस्तान में महंगाई दर 25% हो चुकी है। यहां आटे की कमी के चलते हाहाकार मचा हुआ है। इस वजह से सरकार देश के अलग-अलग हिस्सों में जनता को कम दामों पर आटे के पैकेट उपलब्ध करा रही है।

राज एक्सप्रेस। पाकिस्तान में महंगाई दर 25% हो चुकी है। यहां आटे की कमी के चलते हाहाकार मचा हुआ है। इस वजह से सरकार देश के अलग-अलग हिस्सों में जनता को कम दामों पर आटे के पैकेट उपलब्ध करा रही है। आटे की किल्लत इतनी ज्यादा है कि सस्ता आटा खरीदने की धक्का मुक्की  में अब तक 4 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं।सिंध राज्य के मीरपुर खास जिले में फूड डिपार्टमेंट की ओर से ट्रकों पर आए आटे के पैकेट देखकर भीड़ उमड़ पड़ी। छीना-झपटी में कई लोग घायल हो गए। 35 साल के एक मजदूर को लोगों ने कुचल दिया। उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

सिंध में आटे की डिमांड ज्यादा और सप्लाई कम है। सिंध और कराची में आटे की कीमत 140 से 160 रुपए प्रति किलो है। सब्सिडी रेट पर आटा 65 रुपए प्रति किलो बिक रहा है। हालत इतनी खराब है कि लोग 5-5 किलो की बोरी के लिए भी लड़ रहे हैं। इन बिगड़ते हालातो में  पाकिस्तान सरकार की बेबसी साफ दिख रही है।खैबर पख्तूनख्वा में हालात सबसे खराब हैं। यहां लोग आटे के लिए ऐसी सरकारी दुकानों को तलाश रहे हैं, जहां आटे का पैकेट 1000 से 1500 रुपए में मिलता हो। दरअसल, खुले बाजार में 20 किलो आटे के पैकेट की कीमत 3100 रुपए तक पहुंच गई है। एक साल पहले इसकी कीमत 1100 रुपए थी। 

आटे की बढ़ती कीमतों की वजह से कई इलाकों में लोग सरकार के खिलाफ सड़कों पर उतर आए हैं। भगदड़ में हो रही मौतों के कारण भी लोगों में गुस्सा है। लेकिन पाकिस्तानी सरकार और उनके चरण चुंबक मौन है। सिंध में मजदूर की मौत पर विपक्षी नेता हाजी आदिल शेख ने कहा- सरकार कम दाम पर लोगों को आटा उपलब्ध कराने में नाकाम रही है। आटे की किल्लत से लोगों की जान जाना बेहद अफसोसजनक है।पाकिस्तान में खाना पकाने के लिए सिलेंडर की जगह प्लास्टिक थैलियों में भरी गैस का इस्तेमाल किया जा रहा है। गैस पाइपलाइन नेटवर्क से जुड़ी दुकानों में थैलियों के अंदर गैस भरकर बेची जा रही है।पाकिस्तान में  महंगाई की मार से जनता में हाहाकार मचा हुआ है। 

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस यूट्यूब चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। यूट्यूब पर @RajExpressHindi के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co