इटली में कोरोना के 40,902 नये मामले, रेड जोन की संख्या भी बढ़ी
इटली में कोरोना के 40,902 नये मामले, रेड जोन की संख्या भी बढ़ीSocial Media

इटली में कोरोना के 40,902 नये मामले, रेड जोन की संख्या भी बढ़ी

कोरोना के नये मामलों में लगातार हो रही वृद्धि के कारण देश के स्वास्थ्य ढांचे पर बोझ काफी बढ़ गया है और उसके धराशायी होने की आशंका बनी हुई है। इटली के अस्पताल कोरोना के मरीजों से भरे हुए हैं।

राज एक्सप्रेस। इटली में कोरोना वायरस (कोविड-19) के बढ़ते संक्रमण के बीच सरकार ने रेड जोन की संख्या बढ़ाने की घोषणा की है। जिन क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण के अधिक नये मामले सामने आ रहे हैं उन्हें रेड जोन घोषित किया गया है और इन इलाकों में लॉकडाउन के कड़े नियम लागू किये जायेंगे।

बीबीसी की एक रिपोर्ट के मुताबिक इटली के कैम्पानिया और टस्कनी प्रांतों में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के कारण इन्हें भी रेड जोन घोषित कर दिया गया है।

कोरोना के नये मामलों में लगातार हो रही वृद्धि के कारण देश के स्वास्थ्य ढांचे पर बोझ काफी बढ़ गया है और उसके धराशायी होने की आशंका बनी हुई है। इटली के अस्पताल कोरोना के मरीजों से भरे हुए हैं।

इटली में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस (कोविड-19) संक्रमण के रिकॉर्ड 40,902 नये मामले सामने आए हैं। देश में इस सप्ताह कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 10 लाख का आंकड़ा पहले ही पार कर चुकी है। इटली में इस महामारी के कारण अब तक 44 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।

इटली में सरकार के कोरोना वायरस टास्क फोर्स के सलाहकार वाल्टर रिक्कीआर्डी ने कहा है कि आगामी दो से तीन सप्ताह के भीतर यह निर्णय लेना होगा कि कोरोना संक्रमण के प्रसार को नियंत्रित करने के लिए नये सिरे से देश में संपूर्ण लॉकडाउन लगाया जाये अथवा नहीं।

नये प्रतिबंधों के मद्देनजर प्रांतों को रेड, ऑरेंज और येलो जोन में बांटा गया है। लोम्बार्डी, बोलजानो, पीडमोंट और ऑस्टा वैली में संक्रमण अधिक होने के कारण इन्हें रेड जोन में रखा गया है। इन क्षेत्रों में लोगों को केवल कार्यस्थलों अथवा स्वास्थ्य संबंधी कारणों से ही अपने घरों से बाहर निकलने की इजाजत दी जा रही है। सभी गैर-आवश्यक सामानों वाली दुकानों को बंद कर दिया गया है। बार और रेस्तरां भी बंद कर दिए गए हैं। गौरतलब है कि यूरोप के कई देश कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर का सामना कर रहे हैं।

डिस्क्लेमर : यह आर्टिकल न्यूज एजेंसी फीड के आधार पर प्रकाशित किया गया है। इसमें राज एक्सप्रेस द्वारा कोई संशोधन नहीं किया गया हैं। अतः इस आर्टिकल अथवा समाचार में प्रकाशित हुए तथ्यों की जिम्मेदारी राज एक्सप्रेस की नहीं होगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co