अमेरिका ने यूक्रेन को दिए क्लस्टर बम तो भड़के पुतिन
अमेरिका ने यूक्रेन को दिए क्लस्टर बम तो भड़के पुतिनSyed Dabeer Hussain - RE

अमेरिका ने यूक्रेन को दिए क्लस्टर बम तो भड़के पुतिन, जानिए क्लस्टर बम कितना खतरनाक?

दरअसल क्लस्टर बम एक बेहद खतरनाक हथियार है। यह असल में कई सारे छोटे-छोटे बमों का समूह होता है, जिन्हें एक खोल के अंदर रखा जाता है। इस बम को जमीन या हवा दोनों जगह से दागा जा सकता है।

हाइलाइट्स :

  • अमेरिका के रक्षा मंत्रालय पेंटागन ने यूक्रेन को क्लस्टर हथियार सौंप दिए हैं।

  • व्लादिमिर पुतिन बुरी तरह से भड़के अमेरिका पर।

  • इन बमों से सालों तक तबाही होती रहती है।

राज एक्सप्रेस। बीते दिनों अमेरिका के रक्षा मंत्रालय पेंटागन ने यूक्रेन को क्लस्टर हथियार सौंप दिए हैं। अमेरिका के इस कदम पर रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन बुरी तरह से भड़क गए हैं। उन्होंने कहा है कि अमेरिका के पास अब सारे हथियार खत्म हो गए हैं, इसलिए वह यूक्रेन को ऐसे हथियार दे रहा है जो प्रतिबंधित है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा है कि अगर यूक्रेन ने रूस के खिलाफ इस हथियार का इस्तेमाल किया तो वह भी इसका कड़ा जवाब देंगे। तो चलिए जानते हैं कि आखिर क्लस्टर हथियार क्या होते हैं और यह किस तरह से काम करते हैं?

क्या होते हैं क्लस्टर बम?

दरअसल क्लस्टर बम एक बेहद खतरनाक हथियार है। यह असल में कई सारे छोटे-छोटे बमों का समूह होता है, जिन्हें एक खोल के अंदर रखा जाता है। इस बम को जमीन या हवा दोनों जगह से दागा जा सकता है। इस बम का इस्तेमाल किसी बड़े क्षेत्र को एक साथ खत्म करने के लिए किया जाता है। जब क्लस्टर बम को दागा जाता है तो यह जमीन पर पहुँचने से पहले ही खुल जाता है। इसके बाद इसके अंदर मौजूद बम अलग-अलग जगह बिखरकर उस पूरे इलाके को तबाह कर देते हैं।

क्लस्टर बम क्यों खतरनाक?

क्लस्टर बम को जब दागा जाता है तो इसमें मौजूद छोटे बमों में से 10 से 40 फीसदी बम फटते ही नहीं हैं। यह मिटटी के नीचे दबे होते हैं। ऐसे में जब सालों बाद कोई आम आदमी उस जगह पर पहुंचता हैं तो इसकी चपेट में आ जाता है। यानि इन बमों से सालों तक तबाही होती रहती है। अफगानिस्तान में ऐसा देखा जा चुका है, जिसके बाद संयुक्तद राष्ट्र और अफगान सरकार ने करोड़ों रूपए खर्च करके क्लस्टर बम ढूंढ़कर उन्हें हटाया।

120 देशों ने लगाया प्रतिबंध

आपको बता दें कि साल 2008 में दुनिया के 120 देशों ने संयुक्ते राष्ट्र के एक सम्मेलन में क्लस्टार बम पर बैन लगाने वाले समझौते पर हस्ताक्षर किया था। इसमें फ्रांस और ब्रिटेन जैसे अमेरिका के सहयोगी देश भी हैं। हालांकि अमेरिका, रूस और यूक्रेन ने अब तक क्लसस्टर बम पर प्रतिबंध नहीं लगाया है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co