भारत-अमेरिका के संबंधों के इतिहास में नया अध्याय शुरू : बाइडेन
भारत-अमेरिका के संबंधों के इतिहास में नया अध्याय शुरू : बाइडेन Social Media

भारत-अमेरिका के संबंधों के इतिहास में नया अध्याय शुरू : बाइडेन

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा कि दुनिया के सबसे बड़े लोकतांत्रिक देश भारत और अमेरिका द्विपक्षीय संबधों के इतिहास में नया अध्याय शुरू कर रहे हैं।

वाशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने शुक्रवार को कहा कि दुनिया के सबसे बड़े लोकतांत्रिक देश भारत और अमेरिका द्विपक्षीय संबधों के इतिहास में नया अध्याय शुरू कर रहे हैं। श्री बाइडेन ने कहा , '' भारत और अमेरिका के करीबी एवं मजबूत संबंधों से पूरी दुनिया को फायदा हो सकता है और मुझे लगता है कि ऐसा होना शुरू हो गया है। आज हम अमेरिका-भारत संबंधों के इतिहास में नया अध्याय शुरू कर रहे हैं।" उन्होंने कहा , ''मेरा बहुत पहले से विश्वास रहा है कि भारत अमेरिका के संबंध बहुत सारी वैश्विक चुनौतियों का समाधान करने में मददगार हो सकते हैं। वर्ष 2006 उपराष्ट्रपति बनने के बाद मैंने कहा था कि 2020 तक भारत एवं अमेरिका विश्व के सबसे करीबी देशों में से होंगे।"

उन्होंने कहा कि भारत एवं अमेरिका मिल कर कोविड महामारी का खात्मा कर सकते हैं। जलवायु परिवर्तन और हिन्द प्रशांत क्षेत्र को सुरक्षित बनाने के बारे में भी वह प्रधानमंत्री के साथ चर्चा करेंगे। उन्होंने कहा , '' प्रधानमंत्री और मैं आज चर्चा करेंगे कि हम कोविड-19 से लड़ने के लिए और क्या कर सकते है तथा दुनिया के समक्ष आने वाली जलवायु चुनौतियों का सामना और अपने क्वाड सहयोगियों के साथ हिन्द-प्रशांत हिन्द प्रशांत क्षेत्र स्थिरता कैसे सुनिश्चित कर सकते हैं।"

उन्होंने कहा , ''लोकतांत्रिक मूल्यों को बनाए रखना हमारी साझा जिम्मेदारी है। विविधता के लिए हमारी संयुक्त प्रतिबद्धता है। देश में रहने वाले करीब 40 लाख भारतवंशी अमेरिकियों के अमेरिका के प्रगति और उसे मजबूत बनाने में योगदान है।" अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, '' अगले सप्ताह महात्मा गांधी का जन्मदिन है और यह मौका हम सभी को याद दिलाता है कि अहिंसा, सम्मान, सहिष्णुता का उनका संदेश आज शायद पहले से कहीं ज्यादा मायने रखता है। शुक्रिया।"

श्री बाइडेन ने कहा कि दोनों देशों के बीच गहरे संबंधों को और मजबूत बनाने तथा स्वतंत्र एवं मुक्त हिन्द प्रशांत क्षेत्र स्थापित करने के लिए और कोविड महामारी एवं जलवायु परिवर्तन की चुनौतियों से निपटने के लिए मिल कर काम करने के इच्छुक हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.