America imposed economic ban on Cuba
America imposed economic ban on Cuba|Social Media
दुनिया

अमेरिका ने क्यूबा पर लगाया आर्थिक बैन

चीन और चीनी प्रोडक्ट पर बैन लगाने के बाद अब अमेरिका ने एक अन्य देश क्यूबा (Cuba) पर भी आर्थिक बैन लगाने का फैसला लिया है।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

अमेरिका। बीते दिनों भारत और अमेरिका द्वारा चीन और चीनी प्रोडक्ट पर बैन लगाने का सिलसिला चल रहा था। वहीं, अब अमेरिका ने एक अन्य देश पर भी बैन लगाने का ऐलान कर दिया है। बताते चलें, अमरीका द्वारा क्यूबा (Cuba) पर आर्थिक बैन लगाने का फैसला लिया गया है।

अमेरिका ने लगाया क्यूबा पर नया आर्थिक बैन :

दरअसल, अमेरिका ने आज हवाना में सरकार के राजस्व के स्रोतों को भविष्य के लिए कम करने के प्रयासों के तहत क्यूबा पर नया आर्थिक बैन लगा दिया है। खबरों की मानें तो, इस मामले में ट्रेजरी डिपार्टमेंट ने एक बयान जारी किया है। जिसमें कहा गया है कि, नए उपाय, 'अमेरिकी नागरिकों को क्यूबा में कुछ संपत्तियों में ठहरने, क्यूबा में उत्पादित शराब और तंबाकू उत्पादों को आयात करने, पेशेवर बैठकों या सम्मेलनों में भाग लेना या आयोजित करने और क्यूबा में कुछ सार्वजनिक प्रदर्शनों, क्लीनिकों, कार्यशालाओं, प्रतियोगिताओं और प्रदर्शनियों में भाग लेना और उनका आयोजन करने को लेकर बैन लगाया जाएगा।

व्हाइट हाउस में हुई घोषणा :

बताते चलें, शुक्रवार को व्हाइट हाउस में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम के दौरान ही राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बे ऑफ पिग्स के दिग्गजों को सम्मानित करते हुए क्यूबा पर लगाए गए इस बैन की घोषणा की। अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने इस दौरान बताया कि,

आज कम्युनिस्ट उत्पीड़न के खिलाफ हमारी निरंतर लड़ाई के हिस्से के रूप में, मैं घोषणा कर रहा हूं कि, ट्रेजरी विभाग अमेरिकी यात्रियों को क्यूबा सरकार के स्वामित्व वाली संपत्तियों पर रहने से प्रतिबंधित करेगा। हम क्यूबा के शराब और क्यूबा के तंबाकू के आयात को भी बैन कर रहे हैं। इन प्रतिबंध के नतीजे यह होंगे कि, अमेरिकी डॉलर क्यूबा शासन के निधि में नहीं जा रही हैं और वह सीधे क्यूबा के लोगों के पास जा रही हैं।'
डोनाल्ड ट्रंप, अमेरिकी राष्ट्रपति

ट्रंप प्रशासन को बताया भ्रष्ट शासन :

बताते चलें, इस घोषणा से पहले संयुक्त राष्ट्र महासभा के 75वें सत्र में वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए मंगलवार को क्यूबा के राष्ट्रपति मिगेल डियाज कानेल ने द्वीप देश के खिलाफ वाशिंगटन की सख्त आर्थिक प्रतिबंध की निंदा की। साथ ही उन्होंने ट्रंप प्रशासन को 'नैतिक रूप से भ्रष्ट शासन' भी बताया था।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co