रूस ने आत्मसमर्पण करने वाले यूक्रेनियों को मार दिया : अमेरिका
रूस ने आत्मसमर्पण करने वाले यूक्रेनियों को मार दिया : अमेरिकाSocial Media

रूस ने आत्मसमर्पण करने वाले यूक्रेनियों को मार दिया : अमेरिका

अमेरिका ने दावा किया है कि रूस ने दोनेत्सक के पास आत्मसमर्पण की कोशिश करने वाले यूक्रेनी नागरिकों को मौत के घाट उतार दिया और संबंध में उसके पास पुख्ता सूचना है।

वाशिंगटन। अमेरिका ने दावा किया है कि रूस ने दोनेत्सक के पास आत्मसमर्पण की कोशिश करने वाले यूक्रेनी नागरिकों को मौत के घाट उतार दिया और संबंध में उसके पास पुख्ता सूचना है। वैश्विक आपराधिक न्याय के लिए उच्च पद पर राजदूत बेथ वान शाक ने बुधवार को संयुक्त राष्ट्र में कहा, हमारे पास पुख्ता जानकारी है कि दोनेत्सक के आसपास के क्षेत्र में एक रूसी सैन्य इकाई ने आत्मसमर्पण करने की कोशिश कर रहे यूक्रेनी नागरिकों को हिरासत में लेने की बजाय उन्हें मौत के घाट उतार दिया।

उन्होंने कहा, ''अगर यह सत्य है, तो यह युद्ध के मूल सिद्धांत का उल्लंघन होगा। श्रीमती शाक ने दावा किया है कि अमेरिका के पास पुख्ता रिपोर्ट है कि''नागरिकों को उनके हाथों को बांधकर मारा गया है, उन्हें प्रताड़ित किया गया जिसका शवों पर निशान भी है। महिलाओं और लड़कियों के साथ यौन उत्पीडन भी किया गया। ''उन्होंने कहा, ''तस्वीरों और रिपोर्टों से पता चलता है कि यूक्रेनी नागरिकों को यातनाएं किसी एक सैन्य इकाई और व्यक्तियों ने नहीं दी है, बल्कि इससे यह पता चलता है कि सभी क्षेत्रों में जहां रूसी सेना है वहां यूक्रेनी नागरिकों के साथ इस तरह का व्यवहार सोची समझी चाल के तहत किया जाता है।''

सीएनएन के मुताबिक संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका ने यूक्रेन हुए अत्याचारों की अंतरराष्ट्रीय अपराध न्यायालय से जांच का स्वागत किया है। श्रीमती शाक ने कहा,''हमें स्पष्ट होने की आवश्यकता है और जिन लोगों ने इन अपराधों को अंजाम दिया या इनके लिए आदेश जारी किया उन्हें जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए।''

उन्होंने कहा, ''रूसी सेना और राजनीतिक नेतृत्व को हमारा सीधा संदेश है कि दुनिया आपको देख रही है और इसके लिए आप जिम्मेदार होंगे।'' श्रीमती शाक ने कहा, ''यूक्रेन में हुए अत्याचार पर अंतरराष्ट्रीय जांच की श्रृंखला को अमेरिका समर्थन दे रहा है। इसमें अंतरराष्ट्रीय आपराधिक न्यायालय, संयुक्त राष्ट्र और यूरोप में सुरक्षा तथा सहयोग संगठन द्वारा संचालित जांच शामिल हैं।''

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.