अफगानिस्तान को कोविड वैक्सीन की 30 लाख से अधिक डोज दान देगा चीन
अफगानिस्तान को कोविड वैक्सीन की 30 लाख से अधिक डोज दान देगा चीनSocial Media

अफगानिस्तान को कोविड वैक्सीन की 30 लाख से अधिक डोज दान देगा चीन

चीन, आतंकवादी संगठन तालिबान के कब्जे के बाद संकट में घिरे अफगानिस्तान को कोविड-19 वैक्सीन की 30 लाख से अधिक डोज दान में देगा।

जिनेवा। चीन, आतंकवादी संगठन तालिबान के कब्जे के बाद संकट में घिरे अफगानिस्तान को कोविड-19 वैक्सीन की 30 लाख से अधिक डोज दान में देगा। एक वरिष्ठ चीनी राजनयिक ने यहां यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि पहली खेप में कोरोना वैक्सीन की 30 लाख डोज की आपूर्ति की जायेगी। बाद में वैक्सीन की और डोज की आपातकालीन आपूर्ति की जाएगी।

जिनेवा में संयुक्त राष्ट्र में चीनी मिशन के प्रमुख चेन शू ने सोमवार को बताया कि चीन ने अफगानिस्तान को भोजन, सर्दियों के लिए आवश्यक सामग्री, कोविड वैक्सीन और 20 करोड़ युआन की दवाएं तत्काल उपलब्ध कराने का फैसला किया है। उन्होंने बताया कि चीन ने अपने करीबी पड़ोसी के रूप में अफगानिस्तान की संप्रभुता, स्वतंत्रता और क्षेत्रीय अखंडता का हमेशा सम्मान किया है, उसके आंतरिक मामलों में कभी हस्तक्षेप नहीं किया तथा सभी अफगानी लोगों के प्रति मैत्रीपूर्ण नीति अपनायी है।

श्री चेन ने अफगानिस्तान में मानवीय स्थिति पर उच्च स्तरीय मंत्रिस्तरीय बैठक में कहा, ''चीन अफगानी लोगों की इच्छा और जरूरतों का सम्मान करना जारी रखेगा तथा अफगानिस्तान के शांतिपूर्ण पुनर्निर्माण और आर्थिक विकास में उसका समर्थन करने की पूरी कोशिश करेगा।"

उन्होंने यह भी कहा कि चीन अफगानिस्तान में मानवीय संकट को कम करने में बड़ी भूमिका निभाने और अफगानिस्तान को जल्द से जल्द संक्रमण की स्थिति से सहज तरीके से उबारने और शांतिपूर्ण विकास के मार्ग पर चलने में मदद करने के लिए संयुक्त राष्ट्र का समर्थन करता है।

चीनी राजनयिक ने कहा कि मौजूदा परिस्थितियों में अंतरराष्ट्रीय समुदाय को अफगानिस्तान की मदद के लिए कदम बढ़ाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि अमेरिका और उसके सहयोगी देश अफगानी लोगों को आर्थिक, आजीविका और मानवीय सहायता प्रदान करने के लिए अधिक बाध्य हैं।

श्री चेन ने कहा, ''अफगानिस्तान में उभर रही स्थिति एक बार फिर दिखाती है कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय केवल अफगानिस्तान की संप्रभुता, स्वतंत्रता और क्षेत्रीय अखंडता का सम्मान करके, अफगानी लोगों की इच्छा का सम्मान करके तथा अफगान-नेतृत्व एवं अफगान-स्वामित्व वाले सिद्धांत का पालन करके ही वास्तव में अफगानिस्तान के शांतिपूर्ण पुनर्निर्माण में एक रचनात्मक भूमिका निभा सकता है।"

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co