चीन क्यों करता है उइगर मुसलमानों पर अत्याचार
चीन क्यों करता है उइगर मुसलमानों पर अत्याचारSyed Dabeer Hussain - RE

जबरन नसबंदी से लेकर नमाज पढ़ने पर पाबंदी, जानिए चीन क्यों करता है उइगर मुसलमानों पर अत्याचार?

चीन में उइगर मुसलमानों पर अपनी धार्मिक मान्यताओं जैसे दाढ़ी रखने, नमाज़ पढ़ने या बुर्का पहनने की भी मनाही है। जानिए की चीन इन पर इतना अत्याचार क्यों करता है।

राज एक्सप्रेस। चीन में उइगर मुसलमानों पर हो रहे अत्याचार कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। रोजाना चीन से उइगर मुसलमानों पर होने वाले अत्याचारों की खबरें सामने आती रहती हैं। चीन ने उइगर मुसलमानों को जबरदस्ती डिटेंसन सेंटर्स में रखा हुआ है, जहां उन्हें तरह-तरह की अमानवीय यातनाएं दी जाती हैं। चीन में इन उइगर मुसलमानों पर अपनी धार्मिक मान्यताओं जैसे दाढ़ी रखने, नमाज़ पढ़ने या बुर्का पहनने की भी मनाही है। हालांकि चीन ऐसी तमाम ख़बरों को गलत बताता है। ऐसे में आज हम जानेंगे कि उइगर मुसलमान कौन होते हैं? और चीन इन पर अत्याचार क्यों कर रहा है?

कौन हैं उइगर मुसलमान?

दरअसल चीन में रहने वाले उइगर मुसलमान मूल रूप से मध्य और पूर्व एशिया के रहने वाले हैं। यह तुर्क जातीय समूह से संबंध रखते हैं। उइगर मुसलमान तुर्की भाषा बोलते हैं। इसके अलावा उइगर मुसलमान खुद को चीन का नागरिक भी नहीं मानते हैं। चीन में कुल 55 अल्पसंख्यक समुदायों को आधिकारिक मान्यता मिली हुई है, इनमें से उइगर मुसलमान भी एक हैं।

चीन क्यों करता है अत्याचार?

दरअसल माना जाता है कि उइगर मुसलमान खुद को चीन से अलग करना चाहते हैं, यही कारण है कि चीन इनसे नफरत करता है। चीन में जब भी उइगर मुसलमान किसी बात या कानून को लेकर विरोध करते हैं तो उनके प्रदर्शन को कुचल दिया जाता है। इसके अलावा चीन यह भी मानता है कि उइगर मुस्लिमों के खिलाफ उसकी कार्रवाई आतंकवाद और चरमपंथ को रोकने और देश की सुरक्षा के लिए जरूरी है।

डिटेंशन सेंटर के हालात :

चीन के ऐसे डिटेंशन सेंटर जहां उइगर मुसलमान को रखा जाता है, वहां के हालात बहुत ख़राब है। उन्हें समय पर भोजन और पानी भी नहीं दिया जाता है। कई-कई दिनों तक इन्हें भूखा रखा जाता है। उइगर मुसलमानो को कई दिनों तक बाथरूम भी नहीं जाने दिया जाता है। कई बार विरोध करने पर इन्हें पीट-पीटकर मार दिया जाता है। उइगर मुस्लिमों की जबरन नसबंदी की जाती है। उनसे मजदूरी भी कराई जाती है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co