उत्तरी अफगानिस्तान बन रहा आतंकवादी समूहों का नया गढ़
उत्तरी अफगानिस्तान बन रहा आतंकवादी समूहों का नया गढ़Social Media

उत्तरी अफगानिस्तान बन रहा आतंकवादी समूहों का नया गढ़

रूस के उप विदेश मंत्री आंद्रे रुडेंको ने कहा है कि अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों की जल्दबाजी में वापसी के कारण उत्तरी प्रांत तेजी से आतंकवादियों के नये गढ़ में बदल रहे हैं।

मॉस्को। रूस के उप विदेश मंत्री आंद्रे रुडेंको ने कहा है कि अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों की जल्दबाजी में वापसी के कारण उत्तरी प्रांत तेजी से आतंकवादियों के नये गढ़ में बदल रहे हैं, तालिबान ने पहले से ही ताजिकिस्तान के साथ लगी सीमा पर कब्जा कर रखा है और अब अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी संगठन भी पैर जमा रहे हैं।

श्री रुडेंको ने स्पूतनिक के साथ एक साक्षात्कार में कहा, ''अमेरिका और कुछ नाटो देशों के सैनिकों की अफगानिस्तान से जल्दबाजी में वापसी के परिणाम स्पष्ट हो रहे हैं, एक समय अपेक्षाकृत शांत रहा उत्तरी प्रांत तेजी से एक आतंकवादियों के गढ़ में तब्दील हो रहा है। तालिबान ने ताजिकिस्तान के साथ सीमा पर लगभग पूरी तरह कब्जा कर रखा है। कई अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी संगठन, जैसे कि इस्लामिक स्टेट और अल-कायदा की शाखाएं पैर जमा रही हैं।"

उन्होंने कहा कि पश्चिम एशिया और उत्तरी अफ्रीका से भी विदेशी आतंकवादियों को अफगानिस्तान में बुलाया जा रहा है। मध्य एशिया के लोगों की ऐसे संगठनों में बड़े पदों पर भर्ती की जा रही है। नशीली दवाओं का उत्पादन रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गया है। श्री रुडेंको ने कहा कि अफगानिस्तान की सुरक्षा स्थिति में गिरावट मध्य एशिया के लिए सीधा खतरा है।

गौरतलब है कि अफगानिस्तान से विदेशी सैनिकों की वापसी शुरू होने के बाद से तालिबान की ओर से हिंसा में तेजी देखी जा रही है। सेना की वापसी तालिबान और अमेरिका के बीच पिछले साल फरवरी में दोहा में हुए समझौते के बिन्दुओ में से एक थी। इस महीने की शुरुआत में ही तालिबान ने लगभग पूरी अफगानिस्तान - ताजिकिस्तान सीमा को अपने नियंत्रण में ले लिया था।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co