अमेरिका ने अफगानिस्तान में ड्रोन हमले बंद नहीं किये तो होंगे गंभीर परिणाम : तालिबान
अमेरिका ने अफगानिस्तान में ड्रोन हमले बंद नहीं किये तो होंगे गंभीर परिणाम : तालिबानSocial Media

अमेरिका ने अफगानिस्तान में ड्रोन हमले बंद नहीं किये तो होंगे गंभीर परिणाम : तालिबान

तालिबान ने बुधवार को अमेरिका को चेतावनी दी कि यदि उसने अफगानिस्तानी हवाई क्षेत्र में ड्रोन हमले बंद नहीं किये तो इसके गंभीर 'नकारात्मक परिणाम' होंगे।

काबुल। तालिबान ने बुधवार को अमेरिका को चेतावनी दी कि यदि उसने अफगानिस्तानी हवाई क्षेत्र में ड्रोन हमले बंद नहीं किये तो इसके गंभीर 'नकारात्मक परिणाम' होंगे। तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजाहिद ने ट्विटर पर एक बयान जारी कर कहा, ''इस्लामी अमीरात अफगानिस्तान, अफगानिस्तान की एकमात्र कानूनी इकाई के रूप में यहां की जमीन और वायु क्षेत्र की संरक्षक है। हमने हाल ही में देखा कि अमेरिका ने अफगानिस्तान के पवित्र हवाई क्षेत्र पर अपने ड्रोन विमानों से हमले करके इस्लामिक अमीरात (तालिबान) के सभी अंतरराष्ट्रीय अधिकारों, कानून और कतर की राजधानी दोहा में उसके साथ जताई गई अपनी प्रतिबद्धताओं का उल्लंघन किया है। इन उल्लंघनों पर रोक लगाई जानी चाहिए।"

जबीहुल्लाह मुजाहिद में कहा, ''हम सभी देशों, विशेष रूप से अमेरिका से किसी भी तरह के नकारात्मक परिणामों से बचने के लिए अफगानिस्तान के साथ अंतरराष्ट्रीय अधिकारों, कानूनों और प्रतिबद्धताओं के आलोक में और पारस्परिक सम्मान एवं कटिबद्धताओं पर विचार करते हुए व्यवहार करने का आह्वान करते हैं।

गौरतलब है कि अमेरिका ने आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट-खुरासान को निशाना बना कर अफगानिस्तान में दो ड्रोन हमले किये हैं, जो 26 अगस्त को काबुल हवाई अड्डे पर घातक आत्मघाती हमले के लिए जिम्मेदार था, जिसमें 13 अमेरिकी सैनिकों सहित 200 लोग मारे गये थे। इसी दौरान 29 अगस्त को एक अमेरिकी ड्रोन हमले में सात बच्चों सहित 10 नागरिकों की मौत हो गई, जिससे देश भर में आक्रोश फैल गया था। अमेरिकी सेना ने इस घटना को एक दुखद गलती करार देते हुए इसके लिए माफी मांगी थी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.