पृथ्वी से बिना टकराये गुज़रा एस्टेरॉयड, अब 59 साल तक कोई खतरा नहीं

वैज्ञानिकों के हिसाब से एस्टेरॉयड 1998 OR2 हर 11 साल में धरती के पास से गुज़रता है। लेकिन इस बार इसके धरती से टकराने की आशंका जताई जा रही थी।
पृथ्वी से बिना टकराये गुज़रा एस्टेरॉयड, अब 59 साल तक कोई खतरा नहीं
पृथ्वी से बिना टकराये गुज़रा एस्टेरॉयड, अब 59 साल तक कोई खतरा नहींsocial media

राजएक्सप्रेस। बीते दिनों वैज्ञानिकों द्वारा धरती से एक विशालकाय एस्टेरॉयड टकराने की आशंका जताई जा रही थी, लेकिन अंतरिक्ष से आ रहा ये एस्टेरॉयड अब बिना धरती को नुकसान पहुचांये इसके बगल से गुज़र चुका है। ये एस्टेरॉयड जिसका नाम है एस्टेरॉयड 1998 OR2 धरती से करीब 63 लाख किलोमीटर दूर से गुजरा है। इसके गुजरने के साथ ही दुनिया भर के वैज्ञानिकों ने चैन की सांस ली है।

ये एस्टेरॉयड हर 11 साल में धरती के पास से गुज़रता है। पिछले बार ये 12 मार्च 2009 को 2.68 करोड़ किलोमीटर की दूरी से गुजरा था। अब ये दोबारा 2031 में गुज़रेगा, फिर 2042, फिर 2068 और उसके बाद 2079 में यह धरती के बगल से निकलेगा।

पिछले बार जब ये एस्टेरॉयड धरती के पास से गुज़रा था तब इसकी दूरी 2.68 करोड़ किलोमीटर थी जो की चिंता जनक नहीं थी, लेकिन इस बार इसकी दूरी सिर्फ 63 लाख किलोमीटर थी जो वैज्ञानिकों के हिसाब से बहुत कम दूरी होती है। लेकिन एक बार फिर साल 2079 में यह धरती के बेहद करीब से निकलेगा और उस वक्त इसकी दूरी अभी से 3.5 गुना कम होकर महज़ 17.73 लाख किलोमीटर होगी।

वैज्ञानिकों ने इस एस्टेरॉयड को लेकर 177 साल का कैलेंडर बना कर रखा हुआ है। जिसकी मदद से उन्हें ये हर बार पता होता है कि ये एस्टेरॉयड कब-कब और कितनी दूरी से धरती के पास से गुजरने वाला है। वैज्ञानिकों के हिसाब से 2079 के बाद साल 2127 में पृथ्वी से करीब 25.11 लाख किलोमीटर की दूरी से निकलेगा, इसलिए वैज्ञानिकों ने इसे पोटेंशियली हजार्ड्स ऑब्जेक्टस की श्रेणी में रखा है। इन दो सालों में अगर ये पृथ्वी को कोई नुकसान नहीं पहुँचता है तो इससे डर हमेशा के लिए ख़तम हो जायेगा।

आपको बता दें कि इस एस्टेरॉयड 1998 OR2 का डायमीटर करीब 4 किलोमीटर है। इसकी गति करीब 31,319 किलोमीटर प्रतिघंटा है। यानि कि ये करीब एक सेंकड में 8.72 किलोमीटर की दूर नाप लेता है और एक सामान्य रॉकेट की गति से करीब तीन गुना ज्यादा तेज़ी से चलता है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co