चीन ने लगाया देश में Bitcoin के लेन-देन पर संपूर्ण बैन
चीन ने लगाया देश में Bitcoin के लेन-देन पर संपूर्ण बैनSyed Dabeer Hussain - RE

चीन ने लगाया देश में Bitcoin के लेन-देन पर संपूर्ण बैन

बिटकॉइन एक क्रिप्टोकरेंसी है और क्रिप्टोकरेंसी को कई देशों में मान्यता नहीं दी गई है। वहीं, अब चीन में बिटकॉइन पर पूरी तरह से बैन लगा दिया गया है।

चीन, दुनिया। बिटकॉइन एक क्रिप्टोकरेंसी है और क्रिप्टोकरेंसी एक एसी करेंसी है, जो ज्यादातर सुर्ख़ियों में बनी रहती है। इसको लेकर अलग-अलग देशों में अलग-अलग नियम निर्धारित किए गए हैं। जिनमें मार्केट के आधार पर समय-समय पर बदलाव किए जाते हैं। ज्यादातर निवेशक और ट्रेडर्स इसमें रूचि रखते हैं। जबकि कई देशों में इसको मान्यता भी नहीं दी है। वहीं, अब चीन में बिटकॉइन पर पूरी तरह से बैन लगा दिया गया है।

चीन में बिटकॉइन बैन :

दुनियाभर में अब तक सिर्फ एक ही देश अल सल्वाडोर ऐसा है जिसने क्रिप्टोकरेंसी को मान्यता दी है। इस प्रकार अल सल्वाडोर बिटकॉइन को मान्यता देने वाला पहला देश बन गया है। जबकि, क्रिप्टोकरेंसी की इतनी लोकप्रियता होने के बाद अब भी कोई देश इसको मान्यता देने के लिए तैयार नहीं है। इतना ही नहीं चीन ने एक बड़ा फैसला लेते हुए बिटकॉइन (Bitcoin) और इस प्रकार की अन्य आभासी मुद्राओं (Virtual Currency) को पूरी तरह बैन कर दिया है। इस बैन के बाद चीन में अब बिटकॉइन द्वारा किसी प्रकार का लेन-देन नहीं किया जा सकेगा और यही कोई ऐसा लेने दें करता है तो वह अवैध कहलाएगा।

शुरू किया जाएगा अभियान :

बताते चलें, चीन में ना सिर्फ बिटकॉइन पर बैन लगाया गया है, बल्कि अनधिकृत तरीके से डिजिटल मुद्रा के उपयोग पर पाबंदी लगाने को लेकर एक अभियान भी शुरू किया गया है। इस मामले में चीन के केंद्रीय बैंक पीपल बैंक ऑफ़ चीन (People's Bank of China -PBC) ने एक नोटिस जारी कर कहा है कि, 'बिटकॉइन, एथेरेम और अन्य डिजिटल मुद्राओं ने वित्तीय प्रणाली को बाधित किया है। इसका उपयोग काले धन को वैध बनाने और अन्य अपराधों में किया जा रहा है।'

सरकार ने अनुस्मरण पत्र जारी कर कहा :

बता दें, चीन के बैंकों द्वारा क्रिप्टोकरेंसी पर साल 2013 में ही बैन लगा दिया गया था, लेकिन चीनी सरकार ने इस साल अनुस्मरण पत्र जारी कर बता है कि, 'क्रिप्टोकरेंसी को लेकर आधिकारिक स्तर पर चिंता है। सरकार इस प्रकार की मुद्राओं के जरिये लेन-देन से वित्तीय प्रणाली को होने वाले नुकसान को लेकर चिंतित है।'

PBC का कहना :

PBC ने कहा कि, 'वर्चुअल मुद्राओं की कोई कानूनी टेंडर स्थिति नहीं है। बिटकॉइन और अन्य क्रिप्टोकरेंसी जैसे एथेरियम और टीथर मौद्रिक अधिकारियों द्वारा जारी नहीं किए गए हैं और उनके पास कोई कानूनी टेंडर पावर नहीं है और इसलिए इसे वैध मुद्रा के रूप में प्रसारित नहीं किया जाना चाहिए। पीबीसी ने कहा, सभी अवैध वित्तीय गतिविधियों पर सख्ती से प्रतिबंध लगा दिया गया है और कानूनों के अनुरूप समाप्त कर दिया जाएगा।'

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co