कंबोडिया की मांग पर भारत कोरोना वैक्सीन देकर करेगा मदद
कंबोडिया की भारत से वैक्सीन की मांग Syed Dabeer Hussain - RE

कंबोडिया की मांग पर भारत कोरोना वैक्सीन देकर करेगा मदद

देश में कोरोना की वैक्सीन का वैक्सीनेशन अभियान भी जारी है। इसी बीच कंबोडिया देश ने भारत से वैक्सीन की मांग कर रहे हैं।

कंबोडिया। जब से इस पूरी दुनिया में कोरोना वायरस का प्रकोप बढ़ा है, तब से ही दुनियाभर के अनेक देश कोरोना की दवाई और वैक्सीन तैयार करने में लगे हुए थे। इसी बीच कई देशों ने कोरोना वैक्सीन बनाने का दावा किया था। जिनमें से कई देश उसका परीक्षण कर रहे हैं। हालांकि, कोरोना की वैक्सीन बनाने की रेस में रूस के बाद भारत को भी जीत हासिल हो चुकी है। भारत में भी दो फार्मा कंपनियों द्वारा निर्मित वैक्सीन सफल रही हैं। साथ ही देश में कोरोना की वैक्सीन का वैक्सीनेशन अभियान भी जारी है। इसी बीच अन्य देश भी वैक्सीन की मांग कर रहे हैं।

कंबोडिया ने भारत से की वैक्सीन की मांग :

दरअसल, भारत द्वारा कोरोना वैक्सीन तैयार करने के बाद भारत में अब वैक्सीन लगनी भी शुरू हो चुकी है। इसी बीच भारत दुनिया के अनेक देशों को भी वैक्सीन देकर उनकी मदद करने के लिए तैयार है। इसी कड़ी में कंबोडिया ने भारत से वैक्सीन की मांग कर सहायता मांगी है। इस मामले में वहां के प्रधानमंत्री हुन सेन की तरफ से वैक्सीन की मांग के लिए प्रस्ताव रखा है। इस बारे में जानकारी कंबोडियाई मीडिया से सामने आई है।

प्रधानमंत्री ने की थी वैक्सीन की मांग :

खबरों की मानें तो, कंबोडिया में भारत के राजदूत देवयानी उत्तमखोब्रागेड के साथ मीटिंग के दौरान प्रधानमंत्री हुन सेन ने वैक्सीन का आग्रह किया। हुन सेन ने पहले तो भारत को वैक्सीन की सफलता के लिए बधाई दी। इसी दौरान उन्होंने कहा कि, 'चीन की ओर से वैक्सीन मिलने के बावजूद अभी और वैक्सीन की जरूरत है।' जानकारी के अनुसार, भारत में बनी कोवैक्सीन वैक्सीन के 45 लाख डोज में से 8 लाख डोज भारत- मॉरिशस, फिलिपींस और म्यांमार भेजने वाला है।

बताते चलें, भारत का मकसद इस कोरोना संकट के बीच अपने पड़ोसियों की मदद करना है क्योंकि, भारत मानवता धर्म को भी बखूबी निभाने की इच्छा रखता है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co