सूटकेस में बच्चों के शव : दक्षिण कोरिया में महिला गिरफ्तार

न्यूजीलैंड पुलिस ने गुरुवार को कहा कि दक्षिण कोरिया में एक महिला को गिरफ्तार किया गया है, जिस पर दो बच्चों की हत्या करने का आरोप है। उन बच्चों के शव पिछले महीने सूटकेसों में पाए गए थे।
सूटकेस में बच्चों के शव : दक्षिण कोरिया में महिला गिरफ्तार
सूटकेस में बच्चों के शव : दक्षिण कोरिया में महिला गिरफ्तारSocial Media

वेलिंगटन/सोल। न्यूजीलैंड पुलिस ने गुरुवार को कहा कि दक्षिण कोरिया में एक महिला को गिरफ्तार किया गया है, जिस पर दो बच्चों की हत्या करने का आरोप है। उन बच्चों के शव पिछले महीने सूटकेसों में पाए गए थे। न्यूजीलैंड ने उस महिला का प्रत्यर्पण करने के लिए आवेदन किया है। यह एक ऐसा मामला था, जिसने देश को झकझोर कर रख दिया था, बच्चों की लाशों का पता अंजान परिवार ने लगाया, जिन्होंने ऑकलैंड में एक भंडारण इकाई से उन सूटकेसों को खरीदा था।

शव कई वर्षों से उन सूटकेसों में रखे हुए थे। पुलिस ने कहा कि मृतकों की उम्र पांच से 10 वर्ष के बीच थी। पुलिस ने कहा कि उन्होंने दक्षिण कोरिया के अधिकारियों के साथ मिलकर उस महिला की तलाश में पिछले तीन हफ्तों से काम कर रहे थे और उनका मानना था कि वह दक्षिण कोरिया में है। बीबीसी के अनुसार पुलिस ने छोटे बच्चों की पहचान करने के बाद उस महिला पर ध्यान केंद्रित किया था, जिनके नामों का खुलासा नहीं हुआ है।

डिटेक्टिव इंस्पेक्टर तोफिलाऊ फामानुइया वेलुआ ने कहा कि उस महिला को दक्षिण कोरिया की पुलिस ने गुरुवार सुबह गिरफ्तार किया है और न्यूजीलैंड पुलिस उसकी जमानत मंजूर नहीं करने और उसका प्रत्यर्पण करने के लिए आवेदन करेगी। उन्होंने कहा कि पुलिस को इस अभियान में जनता का पूरा समर्थन प्राप्त हुआ। स्थानीय मीडिया के अनुसार संदिग्ध महिला का मृत बच्चों से जुड़ाव था। बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, मृत बच्चों का परिवार कुछ वर्षों से ऑकलैंड में रह रहा था और उनकी मृत्यु से पहले उनके पिता की मृत्यु हो चुकी थी। पुलिस ने कहा कि शवों का पता लगाने वाले परिवार ने अगस्त की शुरुआत में भंडारण इकाई से उन सूटकेसों को खरीदा था। अधिकारियों ने कहा कि उस परिवार का बच्चों की मौत से कोई संबंध नहीं था, लेकिन शव मिलने के बाद उन्हें परेशानियों का सामना करना पड़ा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co