चीन ने माना गलवान में उसके सैनिक मारे गये
चीन ने माना गलवान में उसके सैनिक मारे गयेSocial Media

चीन ने माना गलवान में उसके सैनिक मारे गये

पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में भारतीय सैनिकों के साथ हिंसक झड़प के सात महीने बाद आखिरकार चीन ने आज कबूला कि इस झड़प में उसके पांच सैनिक मारे गये थे।

राज एक्सप्रेस। पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में भारतीय सैनिकों के साथ हिंसक झड़प के सात महीने बाद आखिरकार चीन ने आज कबूला कि इस झड़प में उसके पांच सैनिक मारे गये थे। चीन की सेना के आधिकारिक अखबार ने शुक्रवार को कहा कि इस झड़प में मारे गये पांच सैनिकों में एक अधिकारी भी शामिल है। यह पहला मौका है जब चीन ने आधिकारिक तौर पर माना है कि भारतीय सैनिकों के साथ झडप में उसके सैनिक हताहत हुए हैं। चीन की ओर से यह खुलासा भारतीय सेना के एक वरिष्ठ कोर कमांडर द्वारा यह दावा किये जाने के बाद किया गया है कि गलवान घाटी में हुई झड़प में चीन के करीब 50 सैनिक मारे गये थे।

इससे पहले भी भारत की ओर से यही कहा गया था कि झड़प में चीन के भी 40 से अधिक सैनिक हताहत हुए हैं। उल्लेखनीय है कि दोनों सेनाओं के कौर कमांडरों के बीच सैनिकों को हटाने के बारे में बनी सहमति को लेकर एक और दौर की बात होने वाली है। गत वर्ष 15 जून को गलवान घाटी में हुई इस झड़प के बाद भारत ने कहा था कि उसके 20 सैनिक सीमा की रक्षा करते हुए शहीद हुए हैं। इनमें एक कर्नल भी शामिल थे। भारत ने इनमें से छह शहीदों को हाल ही में विभिन्न शौर्य पुरस्कारों से नवाजा था। इसके अलावा इन सभी शहीदों के नाम राष्ट्रीय युद्ध स्मारक में भी स्मारक दीवार पर लिखे गये हैं। झड़प में मारे गये चीनी सैनिकों में चीन मिलिट्री कमान रेजिमेंटल कमांडर कि फाबाओ भी शामिल है जिन्हें 'हीरो टू डिफेंड द बॉडर' के सम्मान से नवाजा गया है।

डिस्क्लेमर : यह आर्टिकल न्यूज एजेंसी फीड के आधार पर प्रकाशित किया गया है। इसमें राज एक्सप्रेस द्वारा कोई संशोधन नहीं किया गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co