US का दावा सच हुआ साबित, चीन ने कबूली ये बात
US का दावा सच हुआ साबित, चीन ने कबूली ये बात|Priyanka Sahu -RE
दुनिया

US का दावा सच हुआ साबित, चीन ने कबूली ये बात

कोरोना महामारी फैलाने वाले चीन में आखिरकार ये कबूल कर ही लिया है कि, उसने कोरोना के शुरुआती नमूनों को नष्ट किया था और इससे पहले अमेरिका द्वारा चीन पर आरोप लगाते हुए ये दावा किया था।

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

राज एक्‍सप्रेस। वर्तमान में घातक कोरोना वायरस की महामारी या कहे आपदा चीन से शुरू हुई है, जो कि अब पूरी दुनिया को अपना शिकार बना चुकी है। कोरोना का विकराल रूप अमेरिका में है। इसी के चलते कोविड-19 का कहर फैलाने को लेकर चीन लगातार US के आरोपों का सामना भी कर रहा है। इस सबके बीच US द्वारा हाल ही के कुछ दिनों पहले किया गया दावा सच साबित हुआ है और चीन ने पहली बार ये कबूल किया कि, उसने कोरोना के शुरुआती नमूनों को नष्ट किया था।

लियू डेंगफेंग ने किया ये दावा :

चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग के निरीक्षक लियू डोंगफेंग के अनुसार, सुरक्षा के मद्देनजर नमूनों को नष्ट किया गया था। साथ ही लियू डोंगफेंग द्वारा ये दावा भी किया कि, इस खतरनाक कोरोना वायरस को फैलने से लैब में जैविक सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए विशेषज्ञों की राय ली गई थी, इसके बाद इन्हें नष्ट करने का फैसला किया गया था। हालांकि यह अन्य देशों से नमूने छिपाने के लिए नहीं किया गया था।

अमेरिका का दावा निकला सच :

इसके साथ ही हम यह जान लेते हैं कि, आखिर अमेरिका ने क्‍या दावा किया था, जो आज सच साबित हुआ है। दरअसल, US राष्ट्रपति डॉनाल्ड ट्रम्प और विदेश मंत्री माइक पोम्पियो द्वारा कोरोना वायरस के वुहान की लैब में पैदा होने का दावा करते हुए चीन पर आरोप लगाए थे एवं माइक पोम्पियो ने कहा था कि, चीन ने कोरोना वायरस के शुरुआती नमूनों को नष्ट किया था और इस बात पर राष्ट्रपति ट्रम्‍प ने सबूत होने का दावा भी किया था, इस खुलासे के बाद अमेरिका के ये दावे सच साबित हुए हैं।

बता दें कि, अमेरिका के अलावा यूरोप के कई देश व ऑस्ट्रेलिया, फ्रांस, ब्रिटेन और जर्मनी ने भी चीन पर कोरोना महामारी फैलाने से संबंधित आरोप लगाते रहे। इतना ही नहीं जर्मनी द्वारा कोरोना से तबाह हुई अर्थव्यवस्था के नुकसान की भरपाई को लेकर चीन को 130 अरब पाउंड (करीब 12 लाख करोड़ रुपए) का बिल भी भेजा था।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co