बिजली संकट से जूझ रहा चीन, घनघोर अंधेरे में डूब गए कई राज्य
बिजली संकट से जूझ रहा चीन, घनघोर अंधेरे में डूब गए कई राज्यSocial Media

बिजली संकट से जूझ रहा चीन, घनघोर अंधेरे में डूब गए कई राज्य

चीन में इन दिनों बिजली संकट छाया हुआ है और चीन के कई राज्य बिजली संकट से बुरी तरह जूझ रहे हैं। इसी बिजली की समस्या से चीन में और भी अन्य कई समस्याएं उतपन्न होती नजर आ रही हैं।

चीन, दुनिया। वैसे तो चीन हमेशा अपनी नई-नई टेक्नोलॉजी के लिए जाना जाता है, लेकिन इन दिनों चीन बिलकुल असहाय सा महसूस कर रहा है। क्योंकि, चीन में इन दिनों बिजली संकट छाया हुआ है और चीन के कई राज्य बिजली संकट से बुरी तरह जूझ रहे हैं। इसी बिजली की समस्या से चीन में और भी अन्य कई समस्याएं उतपन्न होती नजर आ रही हैं।

बिजली संकट से जूझ रहा चीन :

जी हां, आपको यह खबर पढ़ कर जरूर हैरानी हो रही होगी, लेकिन यह खबर बिल्कुल सही है कि, इन दिनों चीन के कई राज्यों में लोगों को न सिर्फ अंधेरे में रात काटनी पड़ रही है, बल्कि बिजली की किल्लत इतनी ज्यादा बढ़ गई है कि, इसी बिजली की समस्या के चलते आर्थिक गतिविधियां ठप पड़ती नजर आरही हैं और इसका सीधा असर चीन की अर्थव्यवस्था पर पड़ता नजर आरहा है। इतना ही नहीं ग्लोबल सप्लाई चेन में बाधा आने से दूसरे देशों पर भी इसका असर पड़ सकता है। चीन की सरकार ने बिजली की किल्लत को मद्देनजर रखते हुए बिजली उपभोग की ऊपरी सीमा निर्धारित कर दी है। इसका असर यह है कि, कंपनियां अपने उत्पादन संयंत्र बंद करने को मजबूर हो रही हैं।

बिजली संकट के चलते आ रही चीन में अन्य दिक्कतें :

बताते चलें, चीन में बिजली की भारी किल्लत उत्तरी चीन के कई प्रांतों को सहना पड़ रही है। इसी बिजली संकट के चलते ट्रैफिक लाइट तक बंद हो गई है, जिसके चलते सड़कों पर जाम लगने जैसी भी अन्य समस्याएं आ रही हैं। बता दें, गुआनदोंग एक औद्योगिक केंद्र हैं। यहां लोगों को तो घरों में प्राकृतिक रोशनी का इस्तेमाल और AC का इस्तेमाल न के बराबर करने की सलाह दे दी गई है। जबकि फैक्ट्रियों में बिजली कटौती काफी समय से की जा रही। उत्तरी शहर लिआओयांग में बिजली कटौती के बाद मेटल कास्टिंग फैक्ट्री में वेंटिलेशन बंद होने के कारण 23 लोग जहरीली गैस की चपेट में आ गए है। इन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.