कोरोना वायरस के कारण चीन के सबसे बड़े Project को झटका
कोरोना वायरस के कारण चीन के सबसे बड़े Project को झटका|Social Media
दुनिया

कोरोना वायरस के कारण चीन के सबसे बड़े Project को झटका

चीन के वुहान शहर से शुरू हुए कोरोना वायरस की वजह से चीन के सबसे बड़े प्लान को भी झटका लगा है। रिपोर्ट्स के अनुसार, वन बेल्ट वन रोड का निर्माण फिलहाल बंद है।

Sudha Choubey

Sudha Choubey

राज एक्सप्रेस। चीन के वुहान शहर से शुरू हुआ कोरोना वायरस अब तक 60 से अधिक देशों में पैर पसार चुका है। इस वायरस से मरने वालों का आंकड़ा 3 हजार के पार पहुंच चुका है। वहीं इस वायरस से करीब एक लाख लोग संक्रमित हैं। कोरोना वायरस से हर कोई प्रभावित हो रहा है, चाहे वो फिल्म इंडस्ट्री हो या व्यवसाय हो इसका असर सभी पर पड़ रहा है। हाल ही में खबर आई है कि, इस वायरस की वजह से चीन के सबसे बड़े प्लान को भी झटका लगा है।

चीन के सबसे बड़े प्लान को झटका :

आपको बता दें कि, कोरोना वायरस का असर चीन में उसके महात्वाकांक्षी बेल्ट ऐंड रोड इनिशिएटिव पर भी पड़ रहा है। कोरोना वायरस की वजह से चीन के बेल्ट ऐंड रोड इनिशिएटिव बुरी तरह से प्रभावित हो रहा है। रिपोर्ट्स के अनुसार, वन बेल्ट वन रोड का निर्माण फिलहाल बंद है। रिपोर्ट के मुताबिक, चीनी कर्मचारियों को विदेशी निर्माण साइट पर नहीं जाने दिया जा रहा है, विदेशी परियोजना के लिए काम कर रहे घरेलू कंपनियों में कामगारों की कमी हो गई है, क्योंकि उन्हें डर है कि, इन श्रमिकों की वजह से स्थानीय लोगों को कोरोना वायरस का खतरा हो सकता है।

शी जिनपिंग की बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव को लंबे समय से दुनिया भर में चीन के प्रभाव को परियोजना के रूप में देखा जा रहा है। कोरोना वायरस का प्रकोप चीन की निर्माण और निवेश योजनाओं में देरी और व्यवधानों को बढ़ावा दे रहा है, जिससे कई वर्षों की योजना और आर्थिक कूटनीति में अरबों डॉलर का जोखिम है।

चीन में धीमे हो गए कोरोना के मामले :

बता दें कि, इस योजना का मकसद है यह तीन महादेशों- एशिया, यूरोप और अफ्रीका को सीधे तौर पर जोड़ना है। किसी एक देश का दुनिया में यह सबसे बड़ा निवेश माना जा रहा है। बेल्ड ऐंड रोड के तहत मलेशिया, श्रीलंका और पाकिस्तान में भी चीन कई परियोजनाएं चला रहा है। चीन में कोरोना के मामले धीमे हो गए हैं, लेकिन ईरान, इटली और साउथ कोरिया में मामले बढ़ते जा रहा हैं, जिससे दुनियाभर के देशों में चिंता बढ़ गई है। दिसंबर में कोरोना वायरस का पहला ममला आने के बाद से कई परियोजनाओं को नुकसान पंहुचा है, जिनमें इंडोनेशिया की 5.5 बिलियन डॉलर की हाई स्पीड रेल लाइन भी शामिल है।

पूरी दुनिया में कोरोना वायरस का कहर :

बता दें कि, चीन के अलावा इटली, ईरान, साउथ कोरिया, जापान, अमेरिका और ब्रिटेन के लोग भी कोरोना वायरस से दहशत में हैं। कोरोना वायरस से होने वाली मौत के बारें में बात की जाए, तो दुनिया भर में इस वायरस के चपेट में आने से करीब 3282 लोगों की मौत हो चुकी है। भारत में इस समय कोरोना से ग्रसित मरीजों की संख्या 31 हो गई है। 31 में से 15 मरीजों का इलाज गुरुग्राम में चल रहा है, 10 मरीज दिल्ली के अस्पताल में भर्ती हैं, 1 मरीज तेलंगाना में है, 2 मरीज जयपुर में हैं। इन 31 मरीजों में 16 मरीज इटली के निवासी हैं जो हिंदुस्तान घूमने आए थे।

एक नजर इन बिंदुओं पर भी-

गाजियाबाद में भी कोरोना वायरस की दस्तक :

दुनियाभर में फैल रहे कोरोना वायरस ने गाजियाबाद में भी दस्तक दे दी है। ईरान की राजधानी तेहरान से लौटे संदिग्ध मरीज में कोरोना वायरस से पीड़ित होने की पुष्टि की गई है। इनका इलाज सफदरजंग अस्पताल में किया जा रहा है। उनकी पत्नी और बेटे को घर पर ही आइसोलेट किया गया है। दोनों के ब्लड सैंपल जांच के लिए भेज दिए हैं।

महिला से पालतू कुत्ते को हुआ कोरोना वायरस :

स्वास्थ्य अधिकारियों ने पुष्टि की है कि, हांगकांग में एक 60 वर्षीय महिला के पालतू कुत्ते में कोरोना वायरस की पुष्टि की गई है। कुत्ते में कोरोना वायरस का यह पहला मामला सामने आया है, जब मनुष्य से जानवर में कोरोना वायरस का संक्रमण हुआ है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर ।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co