चीन का एक रॉकेट कंट्रोल खोकर भारत के महासागर में जा गिरा

चीन से जुड़ी बड़ी खबर सामने आई है कि, चीन का एक रॉकेट भारत के महासागर में गिरा है। हालांकि, राहत कि बात यह है की यह जमीन के किसी ऐसे भाग पर नहीं गिरा जो आबादी वाला हिस्सा था।
चीन का एक रॉकेट कंट्रोल खोकर भारत के महासागर में जा गिरा
चीन का एक रॉकेट कंट्रोल खोकर भारत के महासागर में जा गिराSocial Media

Chinese Rocket Fell Back In Indian Ocean : चीन (China) एक ऐसा देश है जो, अपनी शक्ति बढ़ाने के लिए कोई न कोई परिक्षण करता ही रहता है वहीं, अब यह बड़ी खबर सामने आई है कि, चीन का एक रॉकेट भारत के महासागर में गिरा है। हालांकि, राहत की बात यह है की यह जमीन के किसी ऐसे भाग पर नहीं गिरा जो आबादी वाला हिस्सा था।

चीन का एक रॉकेट भारत के महासागर में जा गिरा :

दरअसल, चीन अपनी हरकतों से बाज न आते हुए भारत को लेकर कोई न कोई साजिश रचता ही रहता है। चीन के इस रॉकेट का गिरना भी ऐसी ही किसी साजिश का इशारा लग रहा है। बता दें, चीन का लॉन्ग मार्च 5बी रॉकेट (Long March 5B Rocket) अंतरिक्ष (Space) में भेजा था। जिसका मलबा वापस पृथ्वी (Earth) पर आकर गिरा है। यह घटना शनिवार की बताई जा रही है। शनिवार को ही चीन के इस रॉकेट का कुछ मालबा आकर भारत के दक्षिण तरफ स्थित हिंद महासागर (Indian Ocean) में गिरा हैं। इस मामले की जानकारी देते हुए नासा ने कहा है कि, 'चीन ने इस रॉकेट से जुड़ी जानकारी मुहैया नहीं कराई थी कि यह पृथ्वी पर कहां गिर सकता है।

US स्पेस कमांड का कहना :

US स्पेस कमांड ने कहा कि, 'लॉन्ग मार्च 5बी रॉकेट पृथ्वी के वायुमंडल में दोबारा प्रवेश किया और हिंद महासागर में आकर गिरा। हालांकि, उन्होंने चीनी रॉकेट के मलबे के पृथ्वी के वायुमंडल में आने को लेकर और इसके मलबे के फैलने की संभावना को लेकर भी सवाल उठाए हैं।' जानकारी के लिए बता दें कि, चीनी रॉकेट के मलबे के पृथ्वी की ओर आने का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल होता नज़र आ रहा है।

नासा के एडमिनिस्ट्रेटर का कहना :

वहीं, नासा के एडमिनिस्ट्रेटर बिल नेल्शन ने कहा कि, 'स्पेस से जुड़ी गतिविधियां करने वाले सभी देशों को पहले से स्थापित सर्वश्रेष्ठ तरीकों का अनुसरण करना चाहिए और कभी कुछ ऐसा हो तो उसके बारे में जानकारी साझा करनी चाहिए। ऐसा करना अंतरिक्ष के जिम्मेदारी से इस्तेमाल और पृथ्वी के लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए महत्वपूर्ण है. वहीं, एयरोस्पेस कॉर्प ने कहा कि रॉकेट जिसका वजन 22.5 टन है, को अनियंत्रित रूप से पृथ्वी पर लौटने की अनुमति देना लापरवाही है।'

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co