क्या है कोरोना लॉकडाउन संग आबादी का मलेशिया कनेक्शन?

एकाएक उपजे लॉकडाउन के कारण वैश्विक बाजारों में प्रीकॉशनरी प्रॉडक्ट की मांग तो बढ़ी है लेकिन मार्केट में सप्लाई न होने से मेडिकल शॉप्स, अस्पताल संग वेंडिंग मशीनों से यह गायब हैं।
क्या है कोरोना लॉकडाउन संग आबादी का मलेशिया कनेक्शन?
क्या है कोरोना लॉकडाउन संग आबादी का मलेशिया कनेक्शन?Neha Shrivastava - RE

हाइलाइट्स :

  • कोरोना लॉकडाउन से बढ़ा दुनिया में रोमांस

  • अब मेडिकल शॉप्स पर कॉन्ट्रासेप्टिव्स की कमी

  • मलेशिया में लागू लॉकडाउन से दुनिया में नया संकट

राज एक्सप्रेस। जब से महामारी कोरोना वायरस संक्रमण ने अपना रंग दिखाया है, दुनिया में सोशल डिस्टेंसिंग के मकसद से लागू किए जा रहे लॉकडाउन के कारण लोगों के बीच रिश्तों में निकटता का अहसास भी बलवती हो रहा है। तमाम छोटे-बड़े देशों के सामने इस कारण अब एक नया संकट आन खड़ा हुआ है।

आबादी का मामला :

चीन में covid-19 यानी कोरोना वायरस डिसीज़ 2019 के अटैक के बाद इटली, अमेरिका, कोरिया सहित तमाम देशों में इस महामारी से बहुसंख्या में हो रहीं मौतों के कारण आबादी के पतन का संकट सामने दिख रहा है। ऐसे में आबादी को कंट्रोल करने वाले साधनों की कमी की समस्या से भी स्वास्थ्य अमले को दो-चार होना पड़ रहा है।

कॉन्ट्रासेप्टिव्स की कमी :

जी हां, कोरोना वायरस रोकने लॉकडाउन के कारण दुनिया में कॉन्ट्रासेप्टिव्स यानी गर्भ निरोधक साधनों खासकर कन्डोम की कमी का संकट भी उपजा है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, वैश्विक बाजारों में तकरीबन 10 करोड़ कन्डोम की कमी पाई गई है। रिपोर्ट्स में संकेत दिए गए हैं कि मौजूदा स्थितियों के हिसाब से फिलहाल यह संकट आगामी और कई महीनों तक बरकरार रह सकता है।

संकट क्यों ?

दरअसल, दुनिया भर के तमाम देशों के तकरीबन 3 अरब लोग लॉकडाउन के कारण सीमित दायरे में जिंदगी गुजार रहे हैं। ऐसे में संकट की इस घड़ी के बीच संपूर्ण विश्व में कन्डोम की डिमांड भी तेजी से बढ़ी है। एकाएक उपजे लॉकडाउन के कारण वैश्विक बाजारों में प्रॉडक्ट की मांग तो बढ़ी है लेकिन मार्केट में सप्लाई न होने से मेडिकल शॉप्स, अस्पताल संग वेंडिंग मशीनों से यह गायब हैं।

मलेशिया में कोरोना :

ड्रेगन चीन से उपजा बताया जा रहा कोरोना वायरस धीरे-धीरे दुनिया को लील रहा है। इसके कारण दक्षिण पूर्व एशिया का राष्ट्र मलेशिया सर्वाधिक प्रभावित हुआ है। आंकड़ों के मुताबिक मलेशिया में इस घातक वायरस के कारण 2 हजार से ज्यादा लोगों के संक्रमित होने के मामले सामने आ चुके हैं। जबकि 25 से अधिक लोगों की मौत होने की अधिकृत जानकारी दी गई है।

मलेशिया कनेक्शन :

मलेशिया का कोरोना वायरस लॉकडाउन से भी खास कनेक्शन है। दरअसल कोरोना के कारण जहां लोगों को जान का खतरा है वहीं मलेशिया के कारण दुनिया की आबादी नियंत्रित होती है। जी हां मलेशिया दुनिया का सबसे बड़ा कन्डोम निर्यातक देश है। यहां की कारेक्स् बीएचडी कंपनी की फैक्ट्री दुनिया के अधिकांश देशों को गर्भ निरोधक सप्लाई करती है।

इस बड़ी निर्यातक कंपनी का कहना है कि वायरस को रोकने के लिए लागू लॉकडाउन के कारण प्रॉडक्शन बंद हैं जिससे सप्लाई चेन प्रभावित हुई है। दुनिया में कॉन्डम बनाने वाली मलेशिया की सबसे बड़ी निर्माता कंपनी कारेक्स् बीएचडी में दो सप्ताह से ताला लटका है। कंपनी की निर्माणियों में कन्डोम प्रॉडक्शन बंद है। मलेशिया सरकार ने पैंडेमिक कोरोना के कारण देश में लॉकडाउन घोषित किया है।

संकट कई महीनों का :

बाजार में यह संकट अगले कई महीनों तक बरकरार रह सकता है। कंपनी कारेक्स के सीईओ गोह मिआह किएत का कहना है,

दुनिया की ही तरह हम भी वैश्विक आपदा का सामना कर रहे हैं। लागू लॉकडाउन के कारण उत्पादन प्रभावित होने से सप्लाई प्रभावित हुई है। यह समस्या अगले कुछ माह और रह सकती है।

कारेक्स सीईओ - गोह मिआह किएत

कन्डोम प्रॉडक्शन करने वाली मलेशिया की कारेक्स कंपनी के बाद दूसरे नंबर पर कंट्री चाईना में इसका उत्पादन होता है। ड्रैगन खुद कोरोना त्रासदी से जूझ रहा है और वहां की फैक्ट्रियों में भी तालाबंदी चल रही है। ऐसे में चाइना का वैश्विक बाजार में जल्द वापसी कर पाना फिलहाल संभव नजर नहीं आ रहा। साथ ही यह भी साफ है कि चाइना बाजार में वापसी कर भी लेता है तो भी ग्राहकों के बीच विश्वास बनाने में उसे एड़ी-चोटी का जोर लगाना पड़ेगा क्योंकि अब बात संक्रमण, महामारी और जान गंवाने-बचाने से जुड़ी होगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co