बकरी को भी नहीं बख्शा कोरोना ने, टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव!

"तंजानिया में पॉजिटिव निकली बकरी और पावपाव फल की कोविड-19 टेस्ट किट, राष्ट्रपति जांच का आदेश.."
बकरी को भी नहीं बख्शा कोरोना ने, टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव!
तंजानिया के राष्ट्रपति ने कोविड टेस्ट किट पर उठाए सवाल।Neelesh Singh Thakur – RE

हाइलाइट्स

  • तंजानिया में बकरी को कोरोना!

  • पावपाव फ्रूट भी कोविड-19 संक्रमित!

  • राष्ट्रपति ने टेस्ट किट पर उठाए सवाल

राज एक्सप्रेस। तंजानिया के राष्ट्रपति जॉन मैगुफुली ने उनके देश में आयात की गईँ कोरोनो वायरस परीक्षण किटों पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने यह कहकर खलबली मचा दी कि बकरी और पावपाव फल में कोविड-19 के रिजल्ट पॉजिटिव मिले हैं।

तंजानिया के राष्ट्रपति ने कहा कि; "पावपाव और बकरी के नमूने कोविड -19 परीक्षण में पॉजिटिव मिलने का मतलब है कि यह संभावना थी कि कुछ लोगों का परीक्षण पॉजिटिव किया जा रहा था जबकि वे वास्तव में कोरोना वायरस से संक्रमित नहीं थे।"

बकरी और फल –

तंजानिया में इस्तेमाल किए गए कोरोना वायरस टेस्ट किट को रविवार के दिन राष्ट्रपति जॉन मैगुफुली ने दोषपूर्ण बताया। उन्होंने कहा कि; “कोरोना वायरस टेस्ट किट्स ने बकरी और पावपाव (पपीता) से लिए गए नमूनों पर सकारात्मक परिणाम दिए।”

प्रार्थना की अपील –

मैगुफुली की सरकार को पहले से ही कोरोना वायरस प्रकोप के बारे में मौन रहने के लिए आलोचना का सामना करना पड़ा है। इसके पहले सरकार ने तंजानिया के नागरिकों को कोरोना वायरस देश से दूर रहे इस मकसद से प्रार्थना करने कहा था। अब उनके बयान "किट में तकनीकी खामियां थीं।" ने नई बहस को जन्म दिया है।

मैगुफुली ने तंजानिया के उत्तर-पश्चिम के चाटो में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान कहा, कोविड-19 परीक्षण किट को विदेश से आयात किया गया था। हालांकि उन्होंने इस बारे में आगे और कोई विवरण नहीं दिया।

पावपाव, बकरी और भेड़ -

राष्ट्रपति ने कहा कि उन्होंने तंजानिया के सुरक्षा बलों को किट की गुणवत्ता की जांच करने का निर्देश दिया है। जिन्होंने रैंडमली गैर मानव सैंपल एकत्रित किये थे। इसमें पावपाव, एक बकरी और एक भेड़ के सैंपल शामिल रहे। हालांकि इन गैर मानवीय सैंपल्स को मानवीय नाम और आयु वर्ग में विभाजित कर विशेष पहचान दी गई थी।

इसके बाद इन नमूनों को कोरोना वायरस मौजूदगी के परीक्षण के लिए तंजानिया की प्रयोगशाला में जमा किया गया था। सैंपल गैर मानवीय है इस बारे में लैब को जानबूझकर अनभिज्ञ रखा गया।

इस बारे में राष्ट्रपति ने कार्यक्रम में कहा कि “फल पावपाव और बकरी के नमूने कोविड-19 परीक्षण में पॉजिटिव मिले। इसका मतलब है कि कुछ लोगों को परीक्षण में पॉजिटिव बताया गया जबकि वास्तव में वे कोरोना वायरस से संक्रमित नहीं थे।”

“यहां कुछ चल रहा है। मैंने पहले ही कहा था हमें यह स्वीकार नहीं करना चाहिए कि इस देश के लिए प्रत्येक सहायता अच्छी है। किट्स सहायता की जांच होनी चाहिए।”

जॉन मैगुफुली, राष्ट्रपति, तंजानिया

जानकारी के अनुसार हाल ही में रविवार तक, तंजानिया में अधिकांश अन्य अफ्रीकी देशों के विपरीत कोविड-19 और मौतों के 480 मामले दर्ज किए गए। मैगुफुली ने यह भी कहा कि वे मेडागास्कर के राष्ट्रपति द्वारा प्रचारित किए जा रहे इलाज को लाने के लिए एक विमान भेजने वाले थे। हालांकि यह हर्बल मिश्रण अभी तक अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त वैज्ञानिक परीक्षण से नहीं गुजरा है।

उन्होंने भाषण के दौरान कहा, "मैं मेडागास्कर के साथ संवाद कर रहा हूं, मैंने एक दवा ली है। हम वहां विमान भेजकर देश के लिए दवा लाएंगें ताकि तंजानिया को भी फायदा हो सके।''

कम मामले फिर भी चिंता! -

संयुक्त राज्य अमेरिका, एशिया और यूरोप के कुछ हिस्सों की तुलना में अफ्रीका में कोविड-19 संक्रमण और उसके घातक परिणाम अपेक्षाकृत कम प्रकाश में आए हैं। गौरतलब है कि अफ्रीका में कोरोना वायरस परीक्षण का स्तर बहुत कम है। जिसमें यहां इसकी दर प्रति मिलियन पर लगभग 500 लोग हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co