विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के प्रमुख टेडरोस अधानोम गेब्रियेसस
विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के प्रमुख टेडरोस अधानोम गेब्रियेसस|Social Media
दुनिया

लॉकडाउन से खत्म नहीं होगा कोरोना वायरस, नए तरीके भी खोजें: WHO

कई देश लॉकडाउन हैं, लेकिन (WHO) विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा इस बात की चेतावनी दी गई है, जानें प्रमुख टेडरोस अधानोम गेब्रियेसस ने क्या कहा...

Ankit Dubey

राज एक्सप्रेस। भारत और दुनिया के कई देशों में कोरोना वायरस ने कहर बरपा रखा है, देश और दुनिया की सरकारों ने इससे निजात पाने के लिए लॉकडाउन का तरीका अपनाया है। कई देश और शहर लोक डाउन में हैं, लेकिन (WHO) विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा इस बात की चेतावनी दी गई है कि कोरोना वायरस का मुकाबला करने के लिए केवल लॉकडाउन ही पर्याप्त नहीं है, इसके कई और रास्ते भी ढूंढने होंगे।

लॉक डाउन के अलावा नए रास्ते भी ढूंढने होंगे : WHO

कोरोना वायरस पर रोज ताजातरीन अपडेट देने वाले विश्व स्वास्थ्य संगठन के डायरेक्टर जनरल टेडरोस अधानोम गेब्रियेसस द्वारा कहा गया है कि लॉकडाउन का उपाय कई देशों ने अपनाया है, लेकिन इससे निपटने के लिए और भी रास्ते अपनाने होंगे।

डब्ल्यूएचओ के डायरेक्टर जनरल टेडरोस अधानोम गेब्रियेसस ने अपने ट्विटर हैंडल से जानकारी देते हुए बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण के फैलाव को धीमा करने के लिए कई देशों ने लॉकडाउन किया, लेकिन यह उपाय महामारी को खत्म नहीं करेगा। हम सभी देश से समय का उपयोग करके कोरोना वायरस पर हमला करने की दरख्वास्त करते हैं। इसके नए रास्तों को भी ढूंढना होगा।

उन्होंने आगे कहा कि लॉकडाउन में लोगों की आवाजाही को बंद करना और घर पर रोके रखने से काफी वक्त हासिल होगा। जिससे हेल्थ सिस्टम पर दबाव घटेगा, लेकिन इससे महामारी खत्म नहीं की जा सकती।

सभी देशों से दरख्वास्त की समय का उपयोग करें

डब्ल्यूएचओ के डायरेक्टर ने आगे कहा कि हम सभी देशों से यह कहना चाहते हैं कि जिन्होंने लॉकडाउन का तरीका अपनाया है। वह इस वायरस पर हमला करने के लिए समय का उपयोग करें, आपने इस मौके की दूसरी विंडो बनाई है, पर सवाल यह है कि आप इसका उपयोग कैसे करेंगे।

यह तरीका भी होगा कारगर

डब्ल्यूएचओ के डायरेक्टर ने आगे कहा कि एकांतवास में रह रहे लोगों को खोजना, आइसोलेट परीक्षण और उनका इलाज करना सबसे अच्छा और तेज तरीका है, लेकिन इसके अलावा और भी बड़े कदम जैसे कि सामाजिक और आर्थिक स्तर पर उठाना अच्छा होगा।

आपको बता दें कि कोरोना वायरस से अब तक 180 से ज्यादा देश प्रभावित हो चुके हैं, 20,000 से ज्यादा लोगों की जान अब तक कोरोना वायरस ले चुका है। भारत में इसके मरीज दिन प्रतिदिन बढ़ते ही जा रहे हैं। देश में लॉकडाउन की स्थिति बनी हुई है। इस बीच डब्ल्यूएचओ (WHO) का ऐसा बयान सरकार को सोचने पर मजबूर कर रहा है, अब देखना यह है कि सरकार इस बयान के बाद आगे क्या फैसला करती है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co