Raj Express
www.rajexpress.co
जॉनसन एंड जॉनसन (Johnson&Johnson) कंपनी पर हर्जाना
जॉनसन एंड जॉनसन (Johnson&Johnson) कंपनी पर हर्जाना|Social Media
दुनिया

जॉनसन के इस प्रोडक्ट से बढ़ा शख्स के स्तन का आकार, कंपनी को भरना पढ़ा जुर्माना

जॉनसन एंड जॉनसन (Johnson&Johnson) कंपनी का प्रोडक्ट इस्तेमाल करने से एक शख्स के स्तन का आकार बढ़ा। कंपनी को उस शख्स को 8 बिलियन डॉलर हर्जाना भरना पड़ा।

रवीना शशि मिंज

राज एक्सप्रेस। पिछले कुछ समय से अपने प्रोडक्ट को लेकर विवादों में रहने वाली अमेरिकन कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन (Johnson&Johnson) एक बार फिर सुर्खियों में आई है। जॉनसन एंड जॉनसन के अंतर्गत काम करने वाली कंपनी जेनस्सेन फार्मास्यूटिका (Janssen Pharmaceutica) पर एक शख्स ने आरोप लगाया कि कंपनी द्वारा बनाई और बेची जा रही एंटीसायकोटिक ड्रग रिस्पेड्रल (Rispedral) का डोज़ लेने से उसके स्तन का आकार बढ़ गया। जिसके बाद फिलाडेल्फिया की ज्यूरी ने कंपनी पर 8 बिलियन डॉलर का जुर्माना लगाया है।

निकोल्स ने क्या कहा?

शिकायतकर्ता निकोल्स ने बताया कि 2003 के आस-पास वह एक मनोवैज्ञानिक से मिला था जिसने उसे बताया कि उसे ऑटिस्म स्पेकट्रम डिसआर्डर है। तब से वह रिस्पेड्रल (Rispedral) का डोज़ लेने लगा।

2015 में निकोल्स ने कंपनी पर मानहानी का दावा किया था, जिसमें उन्होंने तर्क दिया कि रिस्पेड्रल (Rispedral) के डोज़ से गायनेकोमास्टिया (gynecomastia) के खतरे की चेतावनी देने में कंपनी विफल रही है। ज्यूरी ने कंपनी को निकोल्स को 1.75 लाख डॉलर मुवाज़ा देने की बात कही। साल 2018 में इस केस में फिर सुनवाई हुई जिसमें मुआवज़े की रकम को घटाकर $680,000 कर दिया गया। लेकिन न्यायाधीश ने उस समय दंडात्मक हर्जाना देने से ज्यूरी को रोक दिया।