ब्रिटेन में ट्रैवल पॉलिसी में बदलाव कर कोविशील्ड वैक्सीन को मिली मंजूरी
ब्रिटेन में ट्रैवल पॉलिसी में बदलाव कर कोविशील्ड वैक्सीन को मिली मंजूरीSocial Media

ब्रिटेन में ट्रैवल पॉलिसी में बदलाव कर कोविशील्ड वैक्सीन को मिली मंजूरी

भारत अपने देश में मौजूद वैक्सीन का वितरण अन्य देशों को भी करके उनकी मदद कर रहा है। इसी बीच ब्रिटेन ने ट्रैवल पॉलिसी में बदलाव कर भारत की कोविशील्ड वैक्सीन को मंजूरी मिल गई है।

ब्रिटेन, दुनिया। कोरोना प्रकोप के बीच दुनियाभर में कोरोना का वैक्सीनेशन जारी है, कई देशों के पार एक वैक्सीन ई तो कई देशों के पास एक से ज्यादा वैक्सीन है। इन्हीं देशों में भारत का नाम भी शामिल है। भारत में आज एक नहीं दो नहीं उससे भी ज्यादा वैक्सीन मौजूद है इसलिए ही अब भारत अपने देश में मौजूद वैक्सीन का वितरण अन्य देशों को भी करके उनकी मदद कर रहा है। इसी बीच ब्रिटेन ने ट्रैवल पॉलिसी में बदलाव कर भारत की कोविशील्ड वैक्सीन को मंजूरी मिल गई है।

कोविशील्ड वैक्सीन को मंजूरी :

दरअसल, अब एक साल से ऊपर हो गया है और कई देशों में कोरोना का आतंक अब भी छाया हुआ है। ऐसे में जब तक कोरोना की कोई प्रमाणित दवाई नहीं बन जाती तब तक दुनियाभर के देश कोरोना की वैक्सीन पर ही निर्भर हैं। ऐसे में ब्रिटेन में कोविशील्ड वैक्सीन को मंजूरी मिलना किसी बड़ी राहत से कम नहीं है। जी हां, इस मंजूरी के बाद ब्रिटेन में अब भारत की फार्म कंपनी सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया के द्वारा तैयार की गई कोरोना वैक्सीन 'कोविशील्ड' को भी मान्यता दी जाएगी, क्योंकि इसे ब्रिटेन ने अपने नए यात्रा नियमों में मान्यता दे दी है।

भारतवासियों को किया जाएगा क्वारंटीन :

बताते चलें, भले ब्रिटेन ने 'कोविशील्ड' को मान्यता मिल गई है, लेकिन अब भी ब्रिटेन जाने वाले भारतवासियों को क्वारंटीन किया जाएगा। बता दें, ब्रिटेन द्वारा अपनी ट्रैवल पॉलिसी में बदलाव करते हुए कोविशील्ड को मंजूरी दे दी है, लेकिन उसने भारत के वैक्सीन सर्टिफिकेट को मंजूरी नहीं दी है जिसके कारण जमीनी स्तर पर भारतीय यात्रियों के लिए कोई खास बदलाव नहीं होगा। हालांकि, नई गाइडलाइंसके तहत न सिर्फ एस्ट्राजेनेका कोविशील्ड को बल्कि एस्ट्राजेनेका वजेवरिया और मॉडर्ना टकीडा के फॉर्मुलेशन को भी मान्यता दे दी गई है। बता दें, नए नियमों के अनुसार, 'कोविशील्ड की दोनों डोज लेने वाले यात्रियों को 10 दिन के लिए क्वारंटीन रहना अनिवार्य किया गया है।

ब्रिटेन सरकार का कहना :

इस मामले में ब्रिटेन सरकार ने कहा है कि, 'वह वैक्सीन सर्टिफिकेट के मान्यता को लेकर भारत के साथ मिलकर काम कर रही है।'

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.