कोरोना वायरस की वजह से रोका गया क्रूज
कोरोना वायरस की वजह से रोका गया क्रूज|Social Media
दुनिया

इटली: कोरोना वायरस की वजह से रोका गया क्रूज, करीब 7000 यात्री फंसे

कोरोना वायरस का ताजा मामला इटली से सामने आया है। यहां एक क्रूज शिप पर करीब 7000 यात्री और चालक दल के सदस्य सवार थे।

Sudha Choubey

Sudha Choubey

राज एक्सप्रेस। चीन के वुहान शहर में फैला जानलेवा कोरोना वायरस दुनियाभर के लिए नई समस्या बनकर सामने आया है। यही वजह है कि, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इस वायरस को अंतरराष्ट्रीय स्वास्थ्य संकट करार दिया है। कोरोना वायरस का ताजा मामला इटली से सामने आया है। यहां एक क्रूज शिप पर लगभग 7000 यात्री और चालक दल के सदस्य सवार थे।

इटली से आया ताजा मामला :

इटली में गुरुवार को छह हजार से अधिक पर्यटकों को ले जा रहे एक जहाज पर कोरोना वायरस के दो संदिग्ध मामले में जहाज को रोक दिया गया। स्थानीय स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि, सिवितावेकिया में कोस्टा क्रोसिएरे के जहाज पर बुखार से पीड़ित एक महिला को देखने के लिए तीन डॉक्टर और एक नर्स चढ़े जिसके बाद चीनी दंपति से लिए गए नमूनों को जांच के लिए भेज दिया गया।

की जा रही है लोगों की जांच :

इसमें सवार एक दंपति ने अचानक चालक दल के सदस्यों को बताया कि, उनकी तबीयत खराब है। उन्होंने सर्दी और जुकाम की शिकायत की। इस बात का पता चलने के बाद पूरे क्रूज पर अफरातफरी मच गई और क्रूज को रोक दिया गया। क्रू मेंबर ने दंपति को अलग किया और क्रूज में सवार बाकी लोगों की जांच की जा रही है। बताया जा रहा है कि, अगले आदेश तक उसे वहीं रोका गया है। द सन वेबसाइट के अनुसार इटली में क्रूज शिप पर एक पति और पत्नी, मकाऊ से इस शिप पर चढ़े थे। इस शिप का नाम कोस्टा सार्मेल्डा है।

WHO ने घोषित किया आपातकाल :

दुनिया भर में कोरोना वायरस के केस लगातार सामने आने के बाद विश्व स्वास्थ्य संगठन यानी WHO ने कोरोना वायरस को अंतर्राष्ट्रीय आपातकाल घोषित कर दिया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख टेड्रोस ऐडहेनॉम गेब्रीयेसोस ने कहा, "इस घोषणा के पीछे प्रमुख कारण चीन की मौजूदा स्थिति नहीं है बल्कि जिस तरह यह दूसरे देशों में फैल रहा है, वो है।" उन्होंने कहा कि, चिंता की बात यह है कि, यह वायरस उन देशों में भी फैल सकता है, जहां स्वास्थ्य प्रणाली कमज़ोर है।

कोरोना वायरस की चपेट में 18 देश :

संयुक्त अरब अमिरात में कोरोना वायरस का पहला मामला सामने आया। दुनिया के करीब 18 देश इस वायरस की चपेट में आ गए हैं। इनमें अमेरिका, जापान और वियतनाम भी शामिल हैं। इसके अलावा हांगकांग में कोरोना वायरस का 17 कन्फर्म केस सामने आये हैं, जबकि थाइलैंड में 7 संदिग्ध पाए गए हैं। मकाऊ में 5, ताइवान में 4 कोरोना वायरस से संक्रमित लोग पाए गए हैं। आस्ट्रेलिया और सिंगापुर में 4-4, कोरिया रिपब्लिक, जापान, फ्रांस और मलेशिया में 3-3 केस सामने आए हैं। साथ ही वियतनाम में 2 और नेपाल में कोरोना वायरस का 1 केस सामने आया है।

क्या है कोरोना वायरस :

कोरोना वायरस, वायरस का एक ऐसा समूह है, जो ऊंट, बिल्ली तथा चमगादड़ सहित कई पशुओं में भी प्रवेश कर रहा है। कोरोना वायरस के मरीजों में आमतौर पर जुखाम, खांसी, गले में दर्द, सांस लेने में दिक्कत, बुखार जैसे शुरुआती लक्षण देखे जाते हैं। इसके बाद ये लक्षण न्यूमोनिया में बदल जाते हैं और किडनी को नुकसान पहुंचाते हैं।

आपको बता दें कि, इस वायरस का नाम कोरोना वायरस इसलिए रखा गया है, क्योंकि इसको इलेक्ट्रॉन माइक्रोस्कोप से देखने पर इसकी सतह कुछ ऐसी दिखाई देती है जैसा कि, हमारे सूर्य के चारों तरफ का चमकदार कोरोना हो।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर ।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co