महाभियोग प्रस्ताव पास, क्‍या ट्रंप का राष्ट्रपति पद है खतरे में?

अमेरिका की राजनीति में डोनाल्ड ट्रंप राष्‍ट्रपति पद से हट सकते हैं, क्‍योंकि आज हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव में महाभियोग प्रस्ताव पास हो गया है, हालांकि अभी सीनेट में महाभियोग का प्रस्‍ताव पास होना बाकी है।
महाभियोग प्रस्ताव पास, क्‍या ट्रंप का राष्ट्रपति पद है खतरे में?
Donald Trump ImpeachmentPriyanak Sahu -RE

राज एक्‍सप्रेस। एक तरफ भारत में 'नागरिकता संशोधन एक्‍ट' का मुद्दा गरमाया हुआ है, तो वहीं दूसरी और अमेरिका की राजनीति गरमाई हुई है, यहां डोनाल्ड ट्रंप का राष्ट्रपति पद है खतरे में है, क्‍योंकि इनके खिलाफ हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव में महाभियोग (Donald Trump Impeachment) प्रस्ताव पास हुआ है, हालांकि अभी डोनाल्ड ड्रंप को ऊपरी सदन सीनेट में महाभियोग का सामना करना बाकी है।

महाभियोग प्रस्ताव पास :

इस मामले को लेकर आज गुरुवार को 6 घंटे तक चर्चा होने के बाद जब वोटिंग की गई, तो हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव में महाभियोग प्रस्ताव के पक्ष में 230 वोट, तो वहीं विरोध पक्ष में 197 वोट डाले गए, जिसमें महाभियोग प्रस्ताव को पास हो गया।

व्हाइट हाउस का बयान आया सामने :

महाभियोग प्रस्ताव पास हुए जाने के बाद व्हाइट हाउस ने अपने बयान में कहा कि, “डोनाल्ड ट्रंप को उम्मीद है कि सीनेट सही तरीके से इस प्रक्रिया को पूरा करेगी। निष्पक्ष प्रक्रिया का पालन हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव में पूरा नहीं किया गया, आगे की जो भी प्रक्रिया होगी, उसके लिए डोनाल्ड ट्रंप तैयार हैं।’’ इस दौरान व्हाइट हाउस ने यह भी कहा है कि, जब से डोनाल्ड ट्रंप ने ऑफिस संभाला है, तभी से वह बिना थके अमेरिकी जनता के लिए काम कर रहे हैं, जो वह ऑफिस में रहने के आखिरी दिन तक करते रहेंगे।

क्‍या ट्रंप की कुुुुुर्सी रहेंगी बरकरार या नहीं ?

अब यह सीनेट में जाएगा, इस दौरान ट्रंप पर लगे आरोपों का एक ट्रायल होगा। इसके बाद वोटिंग होंगी, इस दौरान अगर प्रस्ताव के पक्ष में विरोध वोट कम हुआ तो, डोनाल्ड ट्रंप अमेरिकी राष्ट्रपति के पद की कुर्सी पर ही रहेंगे, परंतु अगर यह प्रस्‍ताव पास हो गया, तो उन्‍हें इस पर से इस्‍तीफा देना होगा। अमेरिकी सीनेट में ट्रायल की यह प्रक्रिया 6 जनवरी के बाद शुरू होगी। इसमें सदस्‍यों की कुल संख्‍या 100 हैं, जिनमें से 53 रिपब्लिकन पार्टी, 45 डेमोक्रेट्स और 2 सदस्य निर्दलीय हैं।

राष्ट्रपति ट्रंप पर क्‍या आरोप लगा ?

दरअसल, अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर यह आरोप लगा है कि, ट्रंप ने सत्ता का दुरुपयोग किया है, अमेरिकी राष्ट्रपति के पद पर रहते हुए उन्होंने यूक्रेन के राष्ट्रपति को दो डेमोक्रेट नेताओं के खिलाफ जांच के लिए दबाव डलवाया।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co