भारत-चीन सीमा विवाद पर बोले ट्रम्‍प-PM मोदी का मूड अच्छा नहीं
भारत-चीन सीमा विवाद पर बोले ट्रम्‍प-PM मोदी का मूड अच्छा नहीं|Social Media
दुनिया

भारत-चीन सीमा विवाद पर बोले ट्रम्‍प-PM मोदी का मूड अच्छा नहीं

भारत-चीन के सीमा विवाद पर अमेरिकी ट्रम्प ने PM मोदी को सज्‍जन पुरूष बताते हुए कहा कि, मैंने PM मोदी से बात की है, उनका मूड अच्छा नहीं है। साथ ही भारत ने ट्रम्प के मध्यस्थता पेशकश को ठुकरा दिया।

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

राज एक्‍सप्रेस। लद्दाख सीमा पर गतिरोध से उपजे भारत-चीन विवाद के बीच अमेरिकी राष्ट्रपति द्वारा लगातार अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं। कोरोना महामारी फैलाने को लेकर यहां एक तरफ अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प चीन को निशाने पर लिए है, तो वहीं ट्रम्प ने भारत के साथ है और मध्यस्थता की पेशकश की थी, जिसे भारत ने ठुकरा दिया हैं।

ट्रम्प ने मोदी से की फोन पर बात :

इसी क्रम में अब अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प ने बताया कि, उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से फोन पर बात की। सीमा विवाद पर पीएम मोदी का मूड अच्छा नहीं है। दो देश जिनकी आबादी 1.4 अरब है, जिनके पास शक्तिशाली सेना है। इस विवाद से भारत खुश नहीं है और शायद चीन भी।

मैं आपको बता सकता हूं कि, मैंने प्रधानमंत्री मोदी से बात की है, लेकिन चीन के साथ अभी जो विवाद बना हुआ है, उसको लेकर वह अच्छे मूड में नहीं हैं।
डॉनल्ड ट्रम्प, अमेरिकी राष्ट्रपति

ट्रम्प ने मोदी को बताया सज्‍जन पुरूष :

दरसअल, अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प ने व्हाइट हाउस के ओवल ऑफिस में बीते दिन यानी गुरुवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए ये बात भी कहीं कि, ''भारत और चीन के बीच यह बड़ा विवाद बनता जा रहा है, मैं आपके प्रधानमंत्री को बहुत पसंद करता हूं, वह बेहद सज्जन पुरुष हैं।''

ट्रम्प से मध्यस्थता पर पूछा सवाल :

पत्रकारों से बातचीत के वक्‍त जब भारत और चीन में बने तनावपूर्ण माहौल में दोनों देशों के बीच मध्यस्थता करने को लेकर सवाल पूछा गया तो इस पर राष्ट्रपति ट्रम्प ने कहा कि, अगर वे ऐसा सोचते हैं कि मेरे मध्यस्थ होने या मध्यस्थता करने से कोई मदद मिलती है, तो मैं ऐसा जरुर करूंगा, हालांकि भारत ने पहले ही ट्रंप की मध्यस्थता का सुझाव ठुकरा दिया है

मध्यस्थता पर भारत की प्रतिक्रिया :

अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प की मध्यस्थता पेशकश को लेकर पर भारत अपनी प्रतिक्रिया दे चुका है। इस बारे में विदेश मंत्रालय ने कहा कि, किसी भी तीसरे पक्ष के हस्तक्षेप की जरूरत नहीं है. शांति से मुद्दे को सुलझाने के लिए हम चीन के संपर्क में हैं।

बता दें कि, अमेरिका राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प ने 2 दिन पहले मध्यस्थता की पेशकश की थी और कहा था कि, वो भारत और चीन के बीच सीमा विवाद के मुद्दे पर मध्यस्थता करने के लिए तैयार है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co