अफगानिस्तान के बाद भूकंप के झटकों से दहला नेपाल, काठमांठू से 161 किमी दूर रहा केंद्र
भूकंप के झटकों से दहला नेपालSocial Media

अफगानिस्तान के बाद भूकंप के झटकों से दहला नेपाल, काठमांठू से 161 किमी दूर रहा केंद्र

हाल ही में खबर आई है कि, नेपाल (Nepal) में आज गुरुवार को भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 4.3 मापी गई, जो मध्यम श्रेणी का है।

नेपाल। बीते दिन अफगानिस्तान में भीषण भूकंप आया था, जिसमें 1000 लोगों की मौत हो गई और कई लोग इसमें घायल हो गए हैं। अब ताजा मामला नेपाल से सामने आया है। खबर आई है कि, नेपाल (Nepal) में गुरुवार की सुबह भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं।

हाल ही में खबर आई है कि, नेपाल में आज गुरुवार सुबह-सुबह 5:19 मिनट पर भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। आज 23 जून की सुबह नेपाल की धरती भूकंप के झटकों से थर्रा गई। जैसे ही भूकंप के झटके महसूस किए गए लोग तुरंत घरों से बाहर निकल आए।

अफगानिस्तान के बाद भूकंप के झटकों से दहला नेपाल, काठमांठू से 161 किमी दूर रहा केंद्र
अफगानिस्तान के बाद भूकंप के झटकों से दहला नेपाल, काठमांठू से 161 किमी दूर रहा केंद्रSocial Media

भारत के इन इलाकों में भी देखा गया भूकंप का असर:

भूकंप का असर भारत के भी कई हिस्सों में देखा गया। खासकर नेपाल से सटे उत्तर प्रदेश और बिहार के इलाकों में। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में भी भूकंप के झटके महसूस किये गए। आपदा प्रबंधन अधिकारी के अनुसार, कर्नाटक के हासन जिले और पड़ोसी क्षेत्रों के कुछ हिस्सों में भूकंप के झटके महसूस किए गए।

मापी गई भूकंप की इतनी तीव्रता:

नेशनल सेंटर फॉर सिस्मोलॉजी के अनुसार, भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 4.3 मापी गई, जो मध्यम श्रेणी का है। इसका केंद्र राजधानी काठमांडू से करीब 161 किलोमीटर दूर था। नेपाल में भूकंप ऐसे वक्त पर आया, जब एक दिन पहले ही भूकंप ने अफगानिस्तान में तबाही मचा दी।

अफगानिस्तान में भूकंप ने मचाई तबाही:

जानकारी के लिए बता दें कि, इससे पहले 21 जून को अफगानिस्तान में भूकंप ने भारी तबाही मचाई थी। यहां 6.1 तीव्रता का भूकंप आया। इसके बाद चारों तरफ बर्बादी और तबाही का ही आलम दिखाई दिया। अफगानिस्तान के एक अधिकारी के मुताबिक, इस भूकंप में अब तक 1000 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। यह आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है। वहीं 1500 से ज्यादा लोगों के घायल होने की भी सूचना है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co