US में मतगणना प्रदर्शन के चलते Facebook ने स्टॉप द स्टील ग्रुप पर लगाया बैन

अमेरिका में ट्रंप के समर्थक राष्ट्रपति चुनाव की मतगणना के खिलाफ जमकर प्रदर्शन कर रहे हैं। इसी बीच Facebook ने गुरुवार को ‘‘स्टॉप द स्टील’’ नामक एक बड़े ग्रुप पर बैन लगा दिया है।
US में मतगणना प्रदर्शन के चलते Facebook ने स्टॉप द स्टील ग्रुप पर लगाया बैन
Facebook bans Stop the Steel GroupSocial Media

अमेरिका। अमेरिका में राष्ट्रपति पद के चुनाव संपन्न हो चुके हैं। मतगणना जारी है और रिजल्ट आने अभी बाकि हैं। जहां एक तरफ मतगणना जारी है वहीं, दूसरी तरफ अमेरिका में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समर्थक राष्ट्रपति चुनाव की मतगणना के खिलाफ जमकर प्रदर्शन कर रहे हैं। इसी बीच बहुचर्चित सोशल मीडिया प्लेटफार्म Facebook ने गुरुवार को ‘‘स्टॉप द स्टील’’ नामक एक बड़े ग्रुप पर बैन लगा दिया है।

Facebook ने लगाया बैन :

दरअसल, अमेरिका में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समर्थक राष्ट्रपति चुनाव की मतगणना के खिलाफ प्रदर्शन करने के लिए ‘‘स्टॉप द स्टील’’ नामक पेज का इस्तेमाल कर रहे थे। ‘स्टॉप द स्टील’’ ग्रुप के कुछ सदस्यों द्वारा इसमें हिंसा की बात कई है और कइयों ने बहुत गलत दावे करते हुए कहा कि, डेमोक्रेट्स रिपब्लिकन्स से चुनाव हड़प रहे हैं। इसलिए ही Facebook द्वारा स्टॉप द स्टील’’ ग्रुप पर यह कार्रवाई करते हुए पाबंदिया लगाई गई हैं। बता दें, Facebook की इस कदम के पहले ही इस ग्रुप से 3,50,000 से अधिक लोग जुड़ चुके थे।

Facebook का बयान :

Facebook ने "स्टॉप द स्टील’’ ग्रुप पर लगाए इस बैन की जानकारी एक बयान जारी कर दी कंपनी ने अपने बयान में बताया कि, ‘‘ऐसे वक्त में जब तनाव चरम पर है, हमनें अप्रत्याशित कदम उठाते हुए ‘स्टाप द स्टील’’ समूह को हटा दिया है। ’कंपनी हमारे द्वारा बनाए गए नियमों का उल्लंघन करने वालों की निगरानी कर रही है। आगे भी कोई इस तरह की हरकत करता पाया गया तो, उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। Facebook ने बताया है कि, अनेक राज्यों में मतगणना के दिन बढ़ाए जाने के बाद अचानक कई ऐसे ग्रुप सामने आ गए हैं।

प्रदर्शन करने वाले कई ग्रुप सामने आए :

बताते चलें, गुरुवार की दोपहर तक प्रदर्शन करने वाले कई ग्रुप सामने आये और इनसे जुड़ने वालों का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा था और यह बढ़ते हुए 12,000 तक पहुंच गया था। इन ग्रुप्स के सदस्य मतदान फर्जीवाड़ा होने के गलत दावे और प्रदर्शन करने की बातें कर रहे थे। हालांकि, हिंसा को लेकर कोई स्पष्ट जानकारी नहीं है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co