Raj Express
www.rajexpress.co
आग लगने से आसमान लाल धुंए में तब्दील हो गया
आग लगने से आसमान लाल धुंए में तब्दील हो गया|Hilary Whiteman, CNN
दुनिया

ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में लगी आग, लगभग 50 करोड़ जानवर जलकर मरे

ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में पिछले चार महीने से आग लगी है। हाल ही में न्यू साउथ वेल्स और विक्टोरिया प्रांत में आपातकालीन स्थिति की घोषणा की गई।

प्रज्ञा

प्रज्ञा

राज एक्सप्रेस। ऑस्ट्रेलिया सरकार ने न्यू साउथ वेल्स और विक्टोरिया प्रांतों के जंगलों में लगी आग को देखते हुए आपातकालीन स्थिति की घोषणा कर दी है। सरकार ने इसके चलते सड़कों को बंद कर दिया है। निवासियों और पर्यटकों को वहां से निकाला जा रहा है। नए साल से एक दिन पहले देश के दक्षिण-पूर्वी हिस्से में भीषण आग लगी, जिसमें कम से कम आठ लोगों की मौत हो गयी। इसके साथ ही यहां छुट्टियां मनाने पहुंचे कई लोग फंस गए।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, न्यू साउथ वेल्स सरकार ने गुरूवार को आपाताकाल की घोषणा की। उन्होंने कहा कि, शुक्रवार से एक सप्ताह के लिए आपात परिस्थितियां रहेंगी। प्रशासन ने लोगों से प्रभावित इलाकों से दूसरे स्थानों पर जाने की अपील की है। साथ ही ग्रामीण दमकल सेवा विभाग भी मुश्किल हालात से निपटने की तैयारी में जुटा है। उन्होंने ट्वीट कर जानकारी दी कि, 4 जनवरी की शाम 5 बजे तक कुल 146 जगह आग लगी।

गुरूवार को न्यू साउथ वेल्स में लगी आग से 40 लाख हेक्टेयर की फसल बर्बाद हो गयी। प्रांत के प्रीमियर ग्लाडेस बेरेजिकलियान ने लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए पुलिस का शुक्रिया कहा। उन्होंने लोगों से भी सावधानी बरतने की अपील की है। उन्होंने कहा, "हम जानते हैं कि तापमान कई हिस्सों में 40° से ऊपर चला जाएगा। फंसे हुए पर्यटकों को भी निकाला जाना है।''

आग के कारण प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने कहा कि, पर्यावरण की रक्षा के लिए उचित कदम उठाए जाएंगे। यह ऑस्ट्रेलिया की उत्सर्जन घटाने की नीति के तहत होगा। कैबिनेट की राष्ट्रीय सुरक्षा समिति अधिक संख्या में जहाजों और हेलिकॉप्टरों को काम पर लगाने तथा अन्य मुद्दों पर विचार के लिए सोमवार को बैठक करेगी।

"हमारा देश इस वक्त देश भर में फैली भीषण जंगल की आग संकट से जूझ रहा है। इस मुश्किल घड़ी में हमारी सरकार का पूरा ध्यान ऑस्ट्रेलियाई नागरिकों की मदद करने पर केंद्रित है। कई लोग फिलहाल आग के खतरे का सामना कर रहे हैं और कई लोग इससे उबर चुके हैं।"

स्कॉट मॉरिसन, प्रधानमंत्री (ऑस्ट्रेलिया)

ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री ने भारत की राजकीय यात्रा तथा जापान की आधिकारिक यात्रा रद्द कर दी है ताकि वह इस आपदा के समय अपने देश में रहें और बचाव कार्यों पर करीब से नजर रख सकें।

आग में लगभग 50 करोड़ जानवर जलकर मरे-

ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में लगभग चार महीने से यह आग लगी है। हफिंग्टन पोस्ट में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार, यूनिवर्सिटी ऑफ सिडनी के इकोलॉजिस्ट्स ने यह अनुमान लगाया है कि, अब तक करीब 48 करोड़ जानवर इस आग में झुलसने से मर गए हैं। इनमें स्तनधारी पशु, पक्षी और रेंगने वाले जीव भी शामिल हैं।

न्यू साउथ वेल्स के मध्य-उत्तरी इलाके में 15 से 28,000 कोआला (जानवर) निवास करते हैं। इस आग की वजह से उनकी आबादी में भारी गिरावट आई है। लगभग 8000 कोआला जानवरों की मौत हो चुकी है। एबीसी को दिए रेडियो इंटरव्यू में केन्द्रीय पर्यावरण मंत्री सुसन ले ने बताया कि, न्यू साउथ वेल्स के मध्य उत्तरी तटीय इलाकों में लगभग 30 प्रतिशत कोआलाओं की मौत हो चुकी है।

इस सप्ताह 200 से अधिक घर नष्ट-

इस सप्ताह तट की ओर बढ़ रही हाल में लगी आग ने 200 से अधिक घरों को नष्ट कर दिया है। कई लोग अभी भी आग से प्रभावित क्षेत्रों में फंसे हुए हैं। मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि अबतक करीब 18 लोगों की मौत हो चुकी है। आगे यह संख्या बढ़ने की संभावना भी जताई जा रही है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।