NATO एंगल पर बोरिस की राय!
NATO एंगल पर बोरिस की राय!Social Media

HTLS 2022 के आखिरी दिन बोरिस जॉनसन की बात ने खींचा ध्यान, उनके अनुसार ये है सच

हिंदुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट यानि HTLS 2022 का आज आखिरी दिन है। समिट में कई मुद्दों पर विचार रखे गए। इसी दौरान यूक्रेन पर रूस के हमले को लेकर ब्रिटेन के पूर्व PM बोरिस जॉनसन की बात ने ध्यान खींचा।

HTLS 2022 : आज यानी शनिवार दिनांक 12 नंबर को 'हिंदुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट' यानि 'HTLS 2022' का आज आखिरी दिन था। इस समिट में कई मुद्दों पर चर्चा चली साथ ही विचार रखे गए। इसी दौरान यूक्रेन पर रूस के हमले को लेकर ब्रिटेन के पूर्व PM बोरिस जॉनसन की बात ने समिट में लोगों का ध्यान खींचा है। बता दें, समिट में बोरिस जॉनसन ने यूक्रेन युद्ध और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन पर अपनी राय देते हुए बड़ा दावा किया है। उनके इस दावे ने ही सबका ध्यान अपनी और कर लिया।

बोरिस जॉनसन की बात ने अपनी ओर खींचा सबका ध्यान :

समिट में बोरिस जॉनसन ने यूक्रेन युद्ध और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन पर अपनी राय देते हुए बड़ा दावा किया कि, 'लोगों को लगता है कि यूक्रेन नाटो में जुड़ना चाहता था इसलिए, रूस ने उस पर हमला किया। जबकि, सच्चाई इससे बिल्कुल ही उलटी है। इतना ही नहीं इस दौरान उन्होंने अपनी बातों को सही बताने के लिए पुतिन के पुराने भाषण के बारे में बताया। इस दौरान ही उन्होंने सबसे पहले तो रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को लेकर भविष्यवाणी कर डाली। उन्होंने यहां तक कह दिया कि, 'पुतिन यूक्रेन से यह युद्ध हार जाएंगे। रूस दुष्प्रचार चलाने में काफी माहिर हैं। यूक्रेन में तबाही मचाने के लिए पुतिन ने हर वो काम किया, जिसकी दुनिया में कोई जगह नहीं। उन्होंने युद्ध को बढ़ावा दिया और अपनी जिद पूरी करने के लिए दुनिया के सामने कई बड़े संकट खड़े कर दिए।'

बोरिस जॉनसन के अनुसार क्या है सचाई ?

जब से रूस ने यूक्रेन पर हमला किया है, अधिकतर लोगों का मानना है कि, यूक्रेन NATO ग्रुप में शामिल होना चाहता था, जबकि रूस इसके विरोध में था। यूक्रेन को नाटो में शामिल होने से रोकने के लिए ही रूस ने उस पर हमला किया है। बोरिस जॉनसन के अनुसार, 'ये बात बिल्कुल गलत है। पुतिन ने अपनी जिद पूरी करने के लिए दुनिया के सामने कई बड़े संकट खड़े कर दिए। वो यूक्रेन को एक वास्तविक देश ही नहीं मानते। वो मास्टर ऑफ प्रोपेगेंडा हैं हार नहीं मानेंगे पर यूक्रेन से जीत भी नहीं पाएंगे। हालांकि, खबर तो यह भी है कि, रूस ने अब यूक्रेन से सेना वापस बुलाना शुरू कर दी है।

ब्रिटेन के व्यापारिक संबंधों को लेकर बोरिस का कहना :

बोरिस जॉनसन ने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग का चमचा कहते हुए चीन के साथ ब्रिटेन के व्यापारिक संबंधों को लेकर कहा कि, "चीन हमारे जीवन का बड़ा सच है। ब्रिटेन और भारत के चीन के साथ बड़े व्यापारिक संबंध हैं। यह मानवता का पांचवां हिस्सा है। हमें चीन के साथ काम करना होगा। हमें चीन के साथ जुड़ने की कोशिश करनी होगी। लेकिन हमें बहुत सावधान भी रहना होगा।" 

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co