Indian businessman gets jail for smuggling drugs in America
Indian businessman gets jail for smuggling drugs in America|Social Media
दुनिया

अमेरिका में मिली भारतीय व्यापारी को सजा

अमेरिका के कैलिफोर्निया से एक भारतीय व्यापारी को सजा मिलने की खबर सामने आई है। दरअसल, इस भारतीय व्यापारी को कैलिफोर्निया के पिट्सबर्ग में फेडरल डिस्ट्रिक्ट कोर्ट द्वारा सजा सुनाई गई है।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

अमेरिका। अमेरिका के कैलिफोर्निया से एक भारतीय व्यापारी को सजा मिलने की खबर सामने आई है। दरअसल, इस भारतीय व्यापारी को कैलिफोर्निया के पिट्सबर्ग में फेडरल डिस्ट्रिक्ट कोर्ट द्वारा सजा सुनाई गई है। इस व्यापारी पर दवाओं की तस्करी और मनी लॉन्ड्रिंग का आरोप लगा है। चलिए जानें क्या है पूरा मामला...

क्या है पूरा मामला :

दरअसल, अमेरिका के कैलिफोर्निया राज्य के पिट्सबर्ग में फेडरल डिस्ट्रिक्ट कोर्ट द्वारा भारत के नागपुर के रहने वाले 37 वर्षीय जितेंद्र हरीश बेलानी उर्फ जीतू नाम के एक व्यापारी को 7 जुलाई को 3 साल तक जेल की सजा सुनाई गई है। हालांकि, जेल की सजा पूरी होने के बाद भी जीतू पर तीन साल तक नजर रखी जाएगी। खबरों के अनुसार जीतू को 3 जून 2019 को चेक गणराज्य में गिरफ्तार किया गया था और उसके बाद से जांच के दौरान लगभग 13 महीने से पुलिस की हिरासत में ही रहा है।

क्यों मिली सजा :

भारत के व्यापारी जितेंद्र हरीश बेलानी पर दवाओं की तस्करी करने और मनी लॉन्ड्रिंग जैसे गंभीर आरोप लगे हैं। वहीं, अब जीतू को चेक गणराज्य से प्रत्यर्पित करके यहां लाया गया। वहीं, संघीय हिरासत से छूटने के बाद जीतू को भारत भेज दिया जाएगा। इस मामले में अटॉर्नी स्कॉट डब्ल्यू ब्राडी ने बताया है कि, जीतू को 3 साल की सजा के साथ ही एक लाख अमेरिकी डॉलर (भारतीय करेंसी में लगभग 75 लाख रुपये) का जुर्माना भी भरना होगा। बता दें, चेक गणराज्य में गिरफ्तार किए जाने के बाद उसे अमेरिका भेज दिया गया था।

बेलानी ने स्वीकार किए आरोप :

जानकारी के अनुसार, इस मामले की याचिका की सुनवाई के समय 9 दिसंबर 2019 को भारत के व्यापारी जितेंद्र हरीश बेलानी ने अपने ऊपर लगे सभी इल्जामों को स्वीकार किया था। उनसे स्वयं बताया कि, वो भारत में LeHPL वेंचर्स नाम से दवा वितरण कंपनी चलाता है। साथ ही उसने बताया कि, साल 2015 से 2019 के बीच उसने अपने साथ के साजिशकर्ताओं के साथ मिलकर अमेरिका में ऐसी कई दवाओं का निर्यात किया, जो केवल चिकित्सक के पर्चे के आधार पर ही दी जाती हैं। इस आधार पर ही अमेरिका में उसे सजा सुनाई गई है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co